अमरीका में हमले की साज़िश में तीन पर आरोप तय

कानजस मस्जिद, अमरीका
इमेज कैप्शन,

एलन कर्टिस बाएं और गैविन राइट दाएं कानजस की मस्जिद और सोमालिया के प्रवासियों पर हमले के साजिशकर्ता

अमरीका के न्याय विभाग के मुताबिक़ तीन लोगों पर सोमालिया के अप्रवासियों के एक अपार्टमेंट और अमरीका के कैनसस राज्य की एक मस्जिद पर बम फेंकने की साज़िश रचने का अभियोग लगाया गया है.

न्याय विभाग के मुताबिक़ 49 वर्षीय एलन कर्टिस, 49 साल के गैविन राइट और 47 साल के पैट्रिक यूजीन स्टाइन ने हमले के लिए विस्फोटक और बंदूक़ें इकट्ठा की थी.

अधिकारियों के मुताबिक़ मुजाहिद कहलाने वाले नागरिक सेना समूह के सदस्यों ने गार्डन शहर के अपने लक्ष्य पर निगरानी भी रखी थी.

उन्होंने अमरीकी चुनाव के एक दिन बाद नौ नवंबर को कथित हमला करने की साज़िश रची थी.

अभियोजकों के मुताबिक़ संदिग्ध की सोमालिया के एक अपार्टमेंट जहां लगभग 120 लोग रह रहे थे, उनके बीच बम धमाका करने की साज़िश रच रहे थे.

उन्होंने कथित तौर पर मीटपैकिंग शहर में बड़ा धमाका करने के लिए विस्फोटकों से भरे चार वाहन पार्क करने पर भी चर्चा की थी.

अभियोजकों के मुताबिक़ पैट्रिक यूजीन स्टाइन ने विस्फोटक उपकरणों के लिए अमोनियम नाइट्रेट देने का प्रस्ताव रखा था और उसने अन्य सामग्री के लिए तीन सौ डॉलर का योगदान दिया था.

अगर उन पर लगाए आरोप साबित हो जाते हैं तो उन्हें उम्र क़ैद तक की सज़ा हो सकती है.

अमरीका के कार्यकारी अर्टानी टॉम बीऑल ने कहा कि आठ महीनों की जांच एफ़बीआई के एजेंटों को "नफरत और हिंसा की एक छुपी हुई संस्कृति की गहराई तक ले गई."

दस्तावेज़ों के मुताबिक़ एक विश्वासपात्र सूत्र ने जानकारी एकत्र करने के लिए इस नागरिक सेना समूह की बैठक में शिरकत की थी.

अमरीकी इस्लामिक संबंध परिषद ने अमरीकी मस्जिदों की सुरक्षा बढ़ाने के लिए कठोर क़ानून लागू करने की अपील की है.

समूह के राष्ट्रीय कार्यकारी निदेशक निहाद अवाद ने एक बयान में कहा, "हम अपने देश के राजनेताओं से विशेषकर राजनैतिक उम्मीदवारों से बढ़ते इस्लामोफोबिया को नकारने की अपील करते हैं."

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)