अनिश्चितता के बावजूद ब्रिक्स से उम्मीद: शी जिनपिंग

  • 16 अक्तूबर 2016
इमेज कॉपीरइट Reuters

चीन के राष्ट्रपति शी जिनपिंग ने कहा है कि विश्व अर्थव्यवस्था को लेकर अनिश्चितता की स्थिति होने के बावजूद भविष्य में ब्रिक्स देशों की सकारात्मक संभावनाएं बरकरार है.

राष्ट्रपति जिनपिंग ने कहा कि ब्रिक्स देश उन देशों में शामिल हैं जिनकी आर्थिक वृद्धि फिलहाल धीमी रफ़्तार से चल रही है.

लेकिन उन्होंने इस बात पर जोर दिया कि ब्रिक्स की संभावनाएं और क्षमता अब भी 'बरकरार' है.

भारत के गोवा में दो दिनों तक चले ब्रिक्स के शिखर सम्मेलन में सदस्य देशों के बीच व्यापार और कारोबार को लेकर नज़दीकी संबंध बनाने पर सहमति बनी है.

ब्रिक्स के देशों में दुनिया की आधी आबादी रहती है और दुनिया की करीब 25 फ़ीसदी अर्थव्यवस्था इन देशों के पास है.

इमेज कॉपीरइट AFP

ब्राज़ील और रूस दोनों ही देश मंदी की मार झेल रहे हैं. ब्राज़ील 1930 के दशक की मंदी के बाद से अपने सबसे ख़राब दौर से गुजर रहा है.

चीन 25 सालों में अपनी सबसे कमजोर आर्थिक वृद्धि की दर से गुजर रहा है.

इसके बावजूद अर्थशास्त्री लॉर्ड जिम ओ नील ने बीबीसी से कहा है कि इस समूह की कामयाबी पर उन्हें पूरा भरोसा है.

लॉर्ड जिम ओ नील ने ही 'ब्रिक्स' शब्द गढ़ा है.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

बीबीसी न्यूज़ मेकर्स

चर्चा में रहे लोगों से बातचीत पर आधारित साप्ताहिक कार्यक्रम

सुनिए