मिकी माउस को भी वोट दे सकते हैं अमरीकी

  • वैनेसा बारफोर्ड
  • बीबीसी न्यूज़, वाशिंगटन डीसी
रिपब्लिकन
इमेज कैप्शन,

कई रिपब्लिकन माइक पेंस को वोट देने की बात कह रहे हैं.

क्या आपने ऐसे चुनाव के बारे में सुना है, जिसमें आप अपनी पसंद के किसी भी इंसान को वोट दे सकते हो भले ही वो इंसान चुनाव नहीं लड़ रहा हो. इंसान छोड़िए, इन चुनावों में आप किसी कार्टून किरदार के हक़ में भी वोट डाल सकते हैं.

अमरीका के कुछ हिस्से ऐसे हैं, जहां चुनावों में अपने पसंदीदा शख़्स का नाम बैलेट पेपर पर लिखकर दिया जा सकता है.

यह अमरीकी चुनाव की एक अनोखी बात है, जिससे शायद ही आप वाकिफ हो.

अमरीकी चुनाव में वोटरों को उन उम्मीदवारों के नाम बैलेट पेपर पर लिखने की इजाज़त है, जो अधिकारिक रूप से राष्ट्रपति पद के लिए चुनाव तक नहीं लड़ रहे.

इस लिहाज़ से देखें तो अमरीका में लोगों की पहली पसंद मिकी माउस है, वहीं स्कैंडनेवियाई देशों में डोनल्ड डक लोगों का चहेता है.

लेकिन हर साल अमरीकी चुनाव में विरोध स्वरूप कुछ वोट गंभीरता के साथ भी पड़ते हैं. मसलन, ये वोट कभी उपराष्ट्रपति पद के उम्मीदवार तो कभी स्वतंत्र उम्मीदवारों को डाले जाते हैं.

लेकिन शायद ही ऐसा होता हो कि कोई सीनेटर अपनी पार्टी के उम्मीदवार को वोट ना देकर, किसी दूसरे उम्मीदवार का नाम बैलेट पर लिख दे.

इस साल रिपब्लिकन पार्टी के तीन सदस्यों ने कहा है कि वे डोनल्ड ट्रंप की जगह रिपब्लिकन पार्टी की ओर से उपराष्ट्रपति पद के उम्मीदवार माइक पेंस का नाम बैलेट पेपर पर लिखेंगे.

ऐसा नहीं है कि ऐसा कहने वाले सिर्फ़ रिपब्लिकन ही हैं. कुछ डेमोक्रेटिक पार्टी के लोग भी है जिन्होंने कहा है कि वे बर्नी सैंडर्स को वोट करेंगे.

लेकिन क्या वाकई में इससे कोई फ़र्क़ पड़ता है?

अमरीका के केवल सात राज्य ऐसे हैं जो इस तरह के वोट को गिनते हैं. ये राज्य हैं वरमोंट, न्यू हैंपशायर, न्यू जर्सी, अल्बामा, आइओवा, पेनसेल्वेनिया और रोड्स आइलैंड.

वहीं दूसरी तरफ आठ राज्य ऐसे हैं, जो इस तरह की वोटों पर बिल्कुल भी विचार नहीं करते. ये राज्य हैं अरकांसा, हवाई, लुसियाना, नेवादा, न्यू मैक्सिको, ओक्लाहोमा, साउथ कैरोलिना और साउथ डेकोटा. एक राज्य मिसिसिपी भी है, जो लगभग हमेशा ही ऐसे वोटों को छांट देता है.

बाकी के राज्य इस तरह के वोटों की इजाज़त तो देते हैं, लेकिन इसके लिए उम्मीदवार को कुछ ख़ास तरह के हलफ़नामे जमा करने पड़ते हैं.

इमेज कैप्शन,

लीसा मरकोवस्की

ये हलफ़नामें अलग-अलग राज्यों में अलग-अलग तरह के होते हैं.

आजतक इस तरह की वोटों की बदौलत कोई अमरीका में राष्ट्रपति नहीं बना है और आम समझदारी के साथ बात की जाए तो शायद ही कभी होगा.

लेकिन संभावनाओं को पूरी तरह से ख़ारिज करना मूर्खता होगी.

अलास्का में रिपब्लिकन पार्टी की उम्मीदवार लीसा मरकोवस्की 2010 में इस तरह की वोट की बदौलत सीनेटर चुनी गई थीं. इससे पहले भी कुछ सांसद इस तरह से चुने जा चुके हैं.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)