ट्रंप न छीनें दूसरे देशों की आज़ादी: तालिबान

अफगान तालिबान
इमेज कैप्शन,

अफगान तालिबान ने ट्रंप के निर्वाचन पर प्रतिक्रिया दी है.

रिपबल्किन नेता डोनल्ड ट्रंप के अमरीकी राष्ट्रपति का चुनाव जीतने पर दुनिया भर से आ रही प्रतिक्रियाओं में एक चरमपंथी संगठन अफ़ग़ान तालिबान की भी है.

अफ़ग़ान तालिबान के प्रवक्ता ज़बीहुल्लाह मुजाहिद ने अमरीकी चुनाव के नतीजों पर एक बयान जारी कर कहा, "डोनल्ड ट्रंप को हमारा संदेश यह है कि अमरीका को विकसित करने की नीति दूसरे देशों की आज़ादी छीनने वाली न हो. इसमें दूसरे देशों की बर्बादी पर अपने राष्ट्रीय हित न देखे जाएं. ताकि दुनिया अमन के साथ रहे और मौजूदा जारी संकट ख़त्म हो."

इसके अलावा अफ़ग़ान तालिबान के प्रवक्ता ने नवनिर्वाचित राष्ट्रपति से अफ़ग़ानिस्तान से सेना वापस बुलाने का आह्वान भी किया है.

उधर ईरान के राष्ट्रपति हसन रूहानी ने ट्रंप के निर्वाचन पर प्रतिक्रिया देते हुए कहा, "अमरीका के चुनावी नतीजों का ईरान की नीति पर कोई असर नहीं पड़ेगा."

इमेज कैप्शन,

ईरान के राष्ट्रपति हसन रूहानी

ईरानी समाचार एजेंसी 'आईएसएनए' की रिपोर्ट में उनके हवाले से कहा गया है, "अमरीका के चुनावी नतीजे उनके आतंरिक असंतोष और अस्थिरता को दिखलाते हैं."

परमाणु क़रार पर उन्होंने कहा, "ईरान की सरकार ने समझदारी से परमाणु क़रार को संयुक्त राष्ट्र सुरक्षा परिषद के अंतर्गत अंजाम दिया है. इसका मतलब यह हुआ कि सरकार बदलने से इस क़रार पर कोई फ़र्क़ नहीं पड़ेगा."

उधर अफ़ग़ानिस्तान के राष्ट्रपति मोहम्मद अशरफ़ ग़नी ने डोनल्ड ट्रंप को उनके निर्वाचन पर बधाई दी है. उन्होंने कहा, "अमरीका और अफ़ग़ानिस्तान चरमपंथ के ख़िलाफ़ और विकास के एजेंडे पर एक दूसरे के साझीदार हैं."

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)