'राष्ट्रपति चुनाव में हार बेहद दर्दनाक है'

  • 9 नवंबर 2016
इमेज कॉपीरइट AFP

अमरीका में डेमोक्रेटिक पार्टी की उम्मीदवार हिलेरी क्लिंटन ने राष्ट्रपति चुनाव में हार स्वीकार करने के बाद पहली बार जनता से मुख़ातिब होते हुए कहा, "डोनल्ड ट्रंप को देश की सेवा करने का एक मौक़ा मिलना ही चाहिए."

हिलेरी ने अपने समर्थकों से माफ़ी मांगते हुए कहा है कि वह चुनाव नहीं जीत सकीं जो बेहद दर्दनाक बात है और ये बहुत दिनों तक रहेगी.

न्यूयॉर्क के एक होटल में उनके साथ मंच पर उनके पति पूर्व राष्ट्रपति बिल क्लिंटन और बेटी चेल्सी क्लिंटन भी मौजूद थीं.

अपने समर्थकों पर ज़ोर देते हुए उन्होंने कहा कि वह राष्ट्रपति चुनाव के परिणाम को खुले दिल से स्वीकार करें. इसके साथ ही उन्होंने कहा कि ट्रंप को खुले दिमाग और दिल से राष्ट्र का नेतृत्व करने का मौका दिया जाना चाहिए.

क्लिंटन ने हार को दर्दनाक बताते हुए कहा कि उनकी ये सारी कोशिशें इस देश के लिए थीं, जिससे वह प्यार करती हैं.

उन्होंने आगे कहा, "हम जो देश के लिए सोच रखते हैं और हमारे जो मूल्य हैं उसके आधार पर हमने चुनाव लड़ा. मैं माफ़ी चाहती हूं कि चुनाव में सफलता नहीं पा सकी."

उन्होंने कहा कि वो अमरीका की पहली राष्ट्रपति नहीं बन पाईं इसका उन्हें ख़ेद है. हिलेरी ने कहा, "लेकिन मुझे उम्मीद है कि एक ना दिन कोई ज़रूर ये बाधा तोड़ेगा."

बीबीसी न्यूज़ मेकर्स

चर्चा में रहे लोगों से बातचीत पर आधारित साप्ताहिक कार्यक्रम

सुनिए