ट्रंप से डरना कितना जरूरी?

डोनल्ड ट्रंप
इमेज कैप्शन,

सत्ता में आने के बाद कितना बदलेंगे डोनल्ड ट्रंप.

डोनल्ड ट्रंप अमरीका के अगले राष्ट्रपति चुने जा चुके हैं. कांग्रेस में भी उनकी रिपब्लिकन पार्टी का वर्चस्व है. ऐसे में दुनिया भर में ट्रंप को लेकर कई तरह की आशंकाएं हैं और सवाल हैं.

कई लोग अभी भी ट्रंप का राष्ट्रपति बनना स्वीकार नहीं कर पाए हैं और अमरीका के कई इलाक़ों में विरोध प्रदर्शन भी हो रहे हैं.

सभी यह समझने की कोशिश कर रहे हैं कि ट्रंप सत्ता संभालने के बाद क्या करेंगे. मुसलमानों, समलैंगिक विवाह, गर्भपात, जलवायु परिवर्तन और अन्य मुद्दों पर ट्रंप का रुख क्या वही होगा जो उन्होंने अपने चुनावी अभियान के दौरान ज़ाहिर किया था. आइये इसे कुछ सवालों के ज़रिए समझते हैं.

क्या राष्ट्रपति ट्रंप व्हाइट हाउस में रहेंगे?

पिछले साल 'द हिल' वेबसाइट को ट्रंप ने इंटरव्यू देकर इस अफ़वाह को ख़ारिज किया था कि वह अमरीकी राष्ट्रपति के व्हाइट हाउस में रहने की लंबे समय से चली आ रही परंपरा को तोड़ देंगे. उन्होंने इसे भी नकार दिया था कि वह वॉशिगंटन डीसी की अहमियत को कम करेंगे.

ट्रंप ने कहा था, ''हां, मैं व्हाइट हाउस में रहूंगा क्योंकि काम को निपटाने के लिए वह माकूल जगह है. मैं शायद ही व्हाइट हाउस छोडूंगा क्योंकि बहुत काम करना है.''

फेडरल एविएशन एडमिनिस्ट्रेशन ने न्यूयॉर्क में ट्रंप के घर की सुरक्षा बढ़ा दी थी. फिलहाल इस इलाके में हवाई उड़ानों पर पाबंदी लगा दी गई है. यह पाबंदी 21 जनवरी तक जारी रहेगी. इसके बाद ट्रंप व्हाइट हाउस में शिफ्ट होंगे.

इमेज कैप्शन,

हिलेरी और बिल क्लिंटन.

राष्ट्रपति बनने के बाद भी ट्रंप अपना व्यवसाय जारी रखेंगे?

ज़ाहिर है ट्रंप ऐसा नहीं करेंगे. सीएनएन को दिए इंटरव्यू में ट्रंप के वकील ने कहा कि उनके सारे बिजनेस जूनियर ट्रंप और उनकी बेटी इवांका के हवाले होंगे. हितों के टकराव के कारण ट्रंप के सारे बिजनेस ट्रस्ट के रूप में तब्दील होंगे. ट्रंप अपने बिजनेस के कारण भी आलोचकों के निशाने पर रहे हैं.

क्या ट्रंप अमरीका और मेक्सिको सीमा पर दीवार खड़ी करेंगे?

ट्रंप ने चुनावी कैंपेन के दौरान वादा किया था कि वह अवैध प्रवासियों को रोकने के लिए अमरीका-मेक्सिको सीमा पर दीवार बनाएंगे. हालांकि मेक्सिको ने इसमें अपना आर्थिक योगदान देने से इनकार कर दिया है. आखिर ट्रंप इस दीवार को बनाएंगे कैसे? क्योंकि इसमें भारी लागत आएगी और उन्हें निजी स्वामित्व वाली भूमि का भी अधिग्रहण करना पड़ेगा.

ट्रंप के इस वादे पर लोगों को संदेह है क्योंकि यह इतना आसान नहीं है. विश्लेषकों का कहना है कि यह कभी संभव नहीं है. हालांकि ट्रंप सरहद पर सुरक्षा व्यवस्था को कड़ी करेंगे और इमिग्रेशन क़ानून को भी सख़्त कर सकते हैं.

इमेज कैप्शन,

मेक्सिको के साथ लगने वाली सीमा पर दीवार खड़ी कर पाएंगे ट्रंप?

क्या गर्भपात को रोक देंगे ट्रंप?

इस साल मार्च महीने में ट्रंप ने कहा था कि गर्भपात को ग़ैरक़ानूनी बना देना चाहिए. ट्रंप ने गर्भपात में कुछ सजा के प्रावधान की भी बात कही थी.

हालांकि बाद में उन्होंने इससे पलटी मार ली. उन्होंने कुछ राज्यों में गर्भपात पर छूट देने की बात कही थी. ट्रंप ने रेप, सगे-संबंधियों से यौन संबंध और मां की जान पर संकट की स्थिति में गर्भपात का समर्थन किया था. ट्रंप गर्भपात में मिलने वाली सरकारी मदद को भी रोकना चाहते हैं.

समलैंगिक विवाहों पर कैसा होगा ट्रंप का रुख?

डोनल्ड ट्रंप ने एक इंटरव्यू में कहा था कि वह समलैंगिक विवाह के ख़िलाफ़ हैं. हालांकि उन्होंने यह भी कहा था कि वह समलैंगिक विवाह में शरीक होंगे. ट्रंप ने कहा था कि इस मुद्दे को राष्ट्रीय स्तर पर लाने से बेहतर है कि राज्य के स्तर पर सुलझाया जाए.

2015 में जब सुप्रीम कोर्ट ने अमरीका में समलैंगिक विवाह को वैध ठहराया तो ट्रंप ने इससे असहमति जताई थी. सुप्रीम कोर्ट के इस फ़ैसले के बाद ट्रंप ने कहा था कि अब यह मुद्दा खत्म हो चुका है.

उन्होंने कहा था कि वह सुप्रीम कोर्ट के फ़ैसले को बदलने की कोशिश नहीं करेंगे. हालांकि इस साल की शुरुआत में ट्रंप ने फॉक्स न्यूज़ से कहा था कि वह सुप्रीम कोर्ट में वैसे जज की नियुक्ति करना चाहेंगे जो इस फैसले को बदल दे. ट्रंप ने जिस माइक पेंस को उपराष्ट्रपति के लिए चुना है, उन्होंने भी समलैगिक विवाह का विरोध किया है.

इमेज कैप्शन,

मुसलमानों पर पाबंदी लगाएंगे ट्रंप?

मुसलमानों के साथ क्या करेंगे ट्रंप?

कैलिफ़ॉर्निया के सैन बर्नार्दिनो की मास शूटिंग में 14 लोगों के मारे जाने के बाद ट्रंप ने एक प्रेस रिलीज जारी की थी. इसमें उन्होंने अमरीका में दूसरे देशों से मुसलमानों की एंट्री पूरी तरह से बंद करने की बात कही थी.

ट्रंप के इस बयान की दुनिया भर में आलोचना हुई. अमेरिका में भी लोगों ने ट्रंप के इस बयान को अपमानजनक और असवैंधानिक करार दिया था. हालांकि चुनाव के बाद ट्रंप की वेबसाइट से मुसलमानों पर पाबंदी वाले पेज को हटा दिया गया.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉयड ऐप के लिए यहां क्लिक करें. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)