क्या ट्रंप खुद परमाणु बटन दबा सकते हैं?

  • 11 नवंबर 2016
इमेज कॉपीरइट AP

डोनल्ड ट्रंप, अमरीका के राष्ट्रपति चुने जा चुके हैं. इसके साथ ही उनकी रिपब्लिकन पार्टी ने अमरीकी संसद कांग्रेस में भी बहुमत हासिल कर लिया है.

चुनाव अभियान के दौरान ट्रंप ने जिस तरह के भाषण दिए उन्हें लेकर काफी बवाल भी हुए और अमरीकी नागरिकों समेत दुनियाभर के लोगों के मन में बहुत से सवाल और आशंकाएं पैदा हो रहीं हैं.

बीबीसी के पाठकों ने भी कुछ इसी तरह के सवाल पूछे हैं. इन सब सवालों में सबसे अहम सवाल है कि क्या ट्रंप परमाणु बटन का खुद इस्तेमाल कर सकते हैं?

इमेज कॉपीरइट Reuters

यह सच है कि अमरीकी राष्ट्रपति के पास यह अधिकार है कि वह परिस्थितियों के अनुसार कुछ मिनटों में ही परमाणु हमलों के आदेश दे सकता है. राष्ट्रपति के पास हर वक्त एक न्यूक्लियर ब्रीफकेस (इसे फुटबॉल के नाम से भी जाना जाता है) मौजूद रहता है.

अपने सैन्य कमांडरों को परमाणु हमले का आदेश देने के लिए राष्ट्रपति को अपनी पहचान की प्रामाणिकता के लिए कुछ कोड का इस्तेमाल करना होता है.

हमले के आदेश के वक्त अमरीका के रक्षा मंत्री को भी इन कोडों को आधिकारिक तौर पर पुष्ट करना आवश्यक होता है, लेकिन उनके पास राष्ट्रपति के फैसले को वीटो करने का अधिकार नहीं है.

व्यक्ति, प्रक्रियाओं और तकनीक की जटिल व्यवस्था के बाद परमाणु हमला किया जा सकता है.

जटिल व्यवस्था होने के बावजूद भी इसे कुछ इस तरह से तैयार किया गया है कि अमरीकी राष्ट्रपति 10 मिनट में ही परमाणु हमले से जवाब दे सके.

न्यूक्लियर ब्रीफकेस में एक मेन्यू भी होता है. इसमें दुनियाभर के विभिन्न हिस्सों पर अलग-अलग तरीकों से पहले से तयशुदा हमलों के विकल्प दिए होते हैं.

ट्रंप के आलोचक राष्ट्रपति की इसी शक्ति को ध्यान में रखकर उनपर सवाल उठा रहे हैं.

इमेज कॉपीरइट AP

आलोचकों के मन में ट्रंप के मिज़ाज, बौद्धिक क्षमता और न्यूक्लियर अलर्ट के समय जटिल सूचनाओं के आंकलन के दबाव को समझने की क्षमता को लेकर कई सवाल हैं.

ट्रंप के बयान भी इन आशंकाओं को कम नहीं होने देते. जैसे कि वह कह चुके हैं कि सैन्य विकल्पों में जिसमें 'नाभकीय विकल्प' भी शामिल हैं, में पूर्वानुमानों की भूमिका नहीं होती है.

अप्रैल में एनबीसी को दिए इंटरव्यू में ट्रंप ने कहा था कि, "वे अंतिम व्यक्ति होंगे जो परमाणु हथियारों का इस्तेमाल करेंगे क्योंकि यह काफी भयावह होगा. मैं किसी दूसरे की तरह परमाणु हमला कर खुश होने वाला इंसान नहीं हूं, लेकिन इसके बावजूद मैं इन हमलों को लेकर कभी भी और कहीं नकारने की बात नहीं करता हूं."

इस बयान से एक महीने पहले दिए बयान में ट्रंप ने कहा था,''अगर कोई आईएसआईएस की तरफ से हम पर हमला करता है तो हम उनपर परमाणु हमला नहीं करेंगे क्या?"

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए यहां क्लिक करें. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

मिलते-जुलते मुद्दे