पाकिस्तान में इस साल के 5 बड़े धमाके

  • 12 नवंबर 2016
इमेज कॉपीरइट EPA

पाकिस्तान के बलूचिस्तान में शाह नूरानी मज़ार में हुए एक आत्मघाती धमाके में 50 लोगों के मारे और 100 के घायल होने की खबर है.

पाकिस्तान में हाल के महीनों में कई बड़े धमाके और हमले हुए हैं. एक नज़र ऐसे ही बड़े धमाकों पर-

25 अक्तूबर, 2016 को बलूचिस्तान की राजधानी क्वेटा में पुलिस कॉलेज पर हुए हमले में 59 जवान मारे गए थे.

अधिकारियों के मुताबिक सुसाइड बेल्ट पहने हमलावर भीतर घुस गए थे और कई लोगों को बंधक बना लिया. स्वघोषित इस्लामिक स्टेट ने इस हमले की ज़िम्मेदारी ली थी.

इमेज कॉपीरइट AP

2 सितंबर, 2016 को पाकिस्तान के मरदान में एक अदालत परिसर में हुए धमाके में कम से कम 12 लोग मारे गए थे और 50 से अधिक घायल हुए थे. पुलिस के मुताबिक हमलावरों ने अदालत परिसर में हेंड ग्रेनेड फेंका और बम से धमाका किया था.

इमेज कॉपीरइट AFP

8 अगस्त, 2016 को क्वेटा के सोल अस्पताल में हुए धमाके में कम से कम 69 लोग मारे गए और 112 घायल हुए थे. ये धमाका सोल अस्पताल के इमरजेंसी में हुआ था.

इमेज कॉपीरइट AFP

इसी साल मार्च में लाहौर के एक पार्क में हुए धमाके में कम से कम 69 लोग मारे गए थे, जिनमें अधिकतर महिलाएं और बच्चे थे.

पाकिस्तान तालिबान के एक गुट ने ईस्टर की पूर्वसंध्या पर हुए इस धमाके की ज़िम्मेदारी ली थी.

गुलशन-ए-इक़बाल पार्क में हुए इस धमाके में ईसाई समुदाय को निशाना बनाया गया था.

मार्च में ही पेशावर की एक बस में हुए धमाके में कम से कम 15 लोग मारे गए थे और क़रीब 30 लोग घायल हुए थे. बस में सरकारी कर्मचारी थे, जो आसपास के क़स्बों से शहर आ रहे थे.

पुलिस के मुताबिक़ धमाका बस में विस्फोटक रखकर किया गया था.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉयड ऐप के लिए यहां क्लिक करें. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

बीबीसी न्यूज़ मेकर्स

चर्चा में रहे लोगों से बातचीत पर आधारित साप्ताहिक कार्यक्रम

सुनिए

मिलते-जुलते मुद्दे