ज़रूरत पड़ी तो रूस का सामना करें ट्रंप: ओबामा

  • 18 नवंबर 2016
इमेज कॉपीरइट Reuters

अमरीकी राष्ट्रपति बराक ओबामा ने अपने उत्तराधिकारी डोनल्ड ट्रंप से कहा है कि यदि रूस अमरीकी "मूल्यों और अंतरराष्ट्रीय मानदंडों" का पालन नहीं करता तो उन्हें रूस के सामने मज़बूती से खड़े होना चाहिए.

बर्लिन में जर्मनी की चांसलर एंगेला मर्केल से बात करने के बाद उन्होंने कहा कि ट्रंप के नेटो संधि के लिए प्रतिबद्ध होने के बयान से उत्साह मिला है.

एंगेला मर्केल और ओबामा ने अमरीका और यूरोपीय यूनियन के एक दूसरे के साथ निकट सहयोग जारी रखने पर ज़ोर दिया.

इमेज कॉपीरइट Reuters

दोनों नेताओं ने एक दूसरे के नेतृत्व की तारीफ़ की. ओबामा ने मर्केल के "मूलभूत सिद्धांतों, मूल्यों, सच्चाई और संवेदनशीलता" की प्रशंसा की.

ओबामा ने कहा कि उन्हें उम्मीद है कि ट्रंप रूस के साथ सकारात्मक संबंध बनाने की कोशिश करेंगे और "रूस के साथ उन मुद्दों पर एक साथ काम करेंगे जो अमरीकी मूल्यों और हितों के अनुरूप होगा."

उन्होंने कहा कि उन्हें इस बात की भी उम्मीद है कि ट्रंप "रूस के हमारे मूल्यों और अंतरराष्ट्रीय मानदंडों से भटकने पर वो उसका सामना करेंगे."

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

मिलते-जुलते मुद्दे