अमरीकाः तेजाब वाले झरने में गिरकर युवक की मौत

पार्क का ये हिस्सा नॉरिस बेसिन में पड़ने और ज्वालामुखी गतिविधियों के कारण इस तालाब का पानी खौलता रहता है.
इमेज कैप्शन,

नॉरिस बेसिन में पड़ने और ज्वालामुखी गतिविधियों के कारण इस तालाब का पानी खौलता रहता है.

अमरीका के येलोस्टोन पार्क के भीतर मौजूद उबलते एसिड वाले तालाब में गिरने से एक व्यक्ति की मौत हो गई है.

23 साल के कॉलिन स्कॉट 7 जून को अपनी बहन के साथ पार्क के भीतर थर्मल स्प्रिंग का "हॉटस्पॉट" देखना चाहते थे.

बेहद तेज गर्म और तेजाब वाले पानी के कारण इस तालाब को पार्क का सुपरवोल्केनो या "हॉटस्पॉट" के नाम से जाना जाता है. ख़तरनाक होने के कारण इसके करीब जाने पर पाबंदी है.

महीनों पहले घटी यह दुर्घटना अब स्थानीय टेलीविजन न्यूज केयूएलआर 8 की ओर से पार्क के अधिकारियों से जानकारी मांगे जाने के बाद सामने आई.

घटनास्थल से मिली जानकारी के मुताबिक़ यह दुर्घटना स्कॉट की बहन सेबल स्कॉट के मोबाइल में दर्ज हो गया था. सेबल स्कॉट ने अपने भाई की फ़ोन पर वीडियो रिकॉर्डिंग कर रही थीं.

येलोस्टोन के डेपुटी चीफ रेंजर लोरेंट वेरेस ने केयूएलआर को बताया कि पार्क के इस हिस्से में जमीन से गर्म पानी का सोता या झरना निकलता है. इसे जियोथर्मल स्प्रिंग भी कहते हैं.

उन्होंने बताया कि गंभीर खतरे और बोर्ड पर लिखी चेतावनी के बावजूद दोनों थर्मल स्प्रिंग के पास कोई ऐसी जगह देख रहे थे, जहां से वे तालाब के पानी को छू सकें.

कॉलिन स्कॉट पानी को पास से महसूस करने के लिए धीरे-धीरे नीचे जा ही रहे थे, तभी उनका पांव फिसला और वे गर्म पानी के झरने में गिर पड़े.

रिपोर्ट के मुताबिक़ बेहद संवेदनशील होने के कारण अधिकारियों ने वीडियो और इसमें रिकॉर्ड की गई जानकारी को सार्वजनिक नहीं किया.

बचाव दल को लगातार कम होती रोशनी और गंभीर ख़तरे के कारण तालाब से उनका शव निकालने में मुश्किल हो रही थी. इसलिए वे दुर्घटना वाले दिन तालाब में नहीं जा सके.

अगले दिन जब दल पहुंचा तो तालाब में स्कॉट के शव का नामोनिशान नहीं मिला.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)