मोसुल में इराक़ी सेना ने आईएस को घेरा

शिया बहुल पॉपुलर मोबिलाइज़ेशन सुरक्षा बल

इमेज स्रोत, EPA

इमेज कैप्शन,

शिया बहुल द पॉपुलर मोबिलाइज़ेशन सुरक्षा बल को मोसुल के पश्चिम में सफलता हालिस हुई है.

इराक़ के अतिरिक्त सुरक्षा बलों ने मोसुल के पश्चिम में एक अहम सड़क को नियंत्रण में लेकर चरमपंथी संगठन इस्लामिक स्टेट को घेरने का दावा किया है.

हश्द अल शाबी समूह ने एलान किया है कि कुर्द लड़ाकों के साथ मिलकर तल अफ़र और सिंजर के बीच की सड़क पर कब्ज़ा कर लिया है.

इस बीच एक हवाई हमले में मोसुल के एक पुल को नुकसान भी पहुंचा है.

इराक़ी सेना मोसुल के पूर्वी इलाके की तरफ़ बढ़ रही हैं जहां पांच से छह हज़ार चरमपंथियों उन्हें कड़ी टक्कर दे रहे हैं.

मोसुल में बहने वाली दजला नदी पर अब सिर्फ़ एक ही पुल बचा है.

इराक़ी सुरक्षा बलों के क़रीब 50 हज़ार सैनिक, कुर्द लड़ाके, सुन्नी अरब कबायली लड़ाके और शिया लड़ाके मोसुल को आईएस के नियंत्रण से वापस लेने के लिए पांच हफ्ते से जारी अभियान में हिस्सा ले रहे हैं.

इमेज स्रोत, EPA

इमेज कैप्शन,

तल अफ़र शहर के पास सैन्य हवाई अड्डे पर शिया बहुल द पॉपुलर मोबिलाइज़ेशन सुरक्षा बल का नियंत्रण हो गया है.

ईरान शिया लड़ाकों के समर्थन वाले द पॉपुलर मोबिलाइज़ेशन (पीएम) सुरक्षा बल ने कहा है कि मोसुल से करीब 50 किलोमीटर दूर आईएस के नियंत्रण वाले तल अफ़र से कुर्दों के नियंत्रण वाले शहर सिंजर के बीच सड़क को काट दिया गया है.

पीएम के एक वरिष्ठ नेता अबु महदी अल मोहनदेस ने कहा कि अब तल अफ़र और मोसुल के बीच की सड़क पर ध्यान दिया जाएगा.

पीएम ने तुर्की की सरकार को सुन्नी तुर्क लोगों की बहुलता वाले शहरों पर हमला नहीं करने की चेतावनी दी है.

इन शहरों से हज़ारों लोग कुर्द नियंत्रण वाले इलाकों की तरफ़ भाग रहे हैं.

निनिवेह प्रांतीय परिषद में तल अफ़र के प्रतिनिधि नूरलदीन क़ूलान ने कहा, "लोग हशीद के डर से भाग रहे हैं, लोगों में काफ़ी डर है."

आईएस के ख़िलाफ़ लड़ रहे शिया लड़ाकों पर सुन्नी नागरिकों को अगवा कर और मारने के गंभीर आरोप लग रहे हैं.

इमेज स्रोत, AMAQ

इमेज कैप्शन,

आईएस से जुड़े अमाक़ न्यूज़ एजेंसी ने दजला नदी पर टूटे पुल का वीडियो जारी किया.

मोसुल में दजला नदी पर पांच ब्रिजों में से अब सिर्फ़ एक पुल बचा है.

इमेज स्रोत, AP

इमेज कैप्शन,

मोसुल के तहरीर ज़िले में एक घायल बच्ची को ले जाते इराक़ी सैनिक.

हालांकि प्रवासियों के लिए संयुक्त राष्ट्र की संस्था का कहना है कि शहर में फंसे करीब 15 लाख लोगों को निकालने में समस्या आ सकती है.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए यहां क्लिक करें. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)