फ़िदेल कास्त्रो की कहानी तस्वीरों की ज़बानी

सो गया क्यूबा की क्रांति का सिपाही फ़िदेल कास्त्रो

क्यूबा के क्रांतिकारी फ़िदेल कास्त्रो

इमेज स्रोत, AP

इमेज कैप्शन,

क्यूबा के क्रांतिकारी फ़िदेल कास्त्रो जिन्होंने क्यूबा की सत्ता हासिल की और लगभग 50 वर्षों तक शासन किया. एक अमीर किसान के घर में 1926 में उनका जन्म हुआ.

इमेज स्रोत, AP

इमेज कैप्शन,

एक नाक़ाम तख्तापलट के लिए जेल में रहने के दो साल बाद वह मेक्सिको में निर्वासन में चले गए. वह 1956 में क्यूबा लौट आए और क्रांतिकारी आंदोलन की कमान संभाली. आखिरकार कास्त्रो ने फुलखेंशियो बतीस्ता को बेदखल करने के बाद नए साल के दिन 1959 को क्यूबा में सत्ता संभाली.

इमेज स्रोत, AP

इमेज कैप्शन,

कास्त्रो ने 1961 में सीआईए समर्थित विद्रोहियों के खिलाफ अपने सैनिकों का नेतृत्व किया. जो उनके तख्ता पलट के लिए बे ऑफ पिग में उतरे थे.

इमेज स्रोत, AP

इमेज कैप्शन,

शायद कास्त्रो की सबसे बड़ी परीक्षा की घड़ी साल 1962 में उनके सामने आई थी जब उन्हें अमरीका के राष्ट्रपति जॉन एफ़ कैनेडी ने क्यूबा से सोवियत मिसाइलों को हटाने की चेतावनी थी

इमेज स्रोत, AFP

इमेज कैप्शन,

सोवियत नेता निकिता ख्रुश्चेव और फ़िदेल कास्त्रो ने मिसाइलें हटा ली और परमाणु युद्ध की आशंका ख़त्म हो गई.

इमेज स्रोत, AFP

इमेज कैप्शन,

कई उदारवादी क्यूबाई उन्हें दमनकारी तानाशाह मानते थे.

इमेज स्रोत, AP

इमेज कैप्शन,

फ़िदेल कास्त्रो का बेसबॉल के लिए प्यार जगजाहिर था. इस तस्वीर में टीचर्स कॉलेज में 1962 में वह बेसबॉल खेलते हुए दिख रहे हैं.

इमेज स्रोत, Reuters

इमेज कैप्शन,

साल 2006 में आंतों के की सर्जरी के बाद क्यूबा के राष्ट्रपति फिदेल कास्त्रो ने अपने भाई राउल कास्त्रो को पद से संबंधित अपने रोजमर्रा के काम सौंप दिए थे. इसके बाद से वह कम ही दिखाई देते थे. साल 2008 में उन्होंने आधिकारिक तौर पर राष्ट्रपति पद से इस्तीफ़ा दे दिया था.

इमेज स्रोत, AFP

इमेज कैप्शन,

अगस्त में अपने 90 वें जन्मदिन के मौके पर वह सार्वजिनक तौर पर आखिरी बार दिखाई दिए थे.