ख़तरे में ज़िन्दगी
प्लेबैक आपके उपकरण पर नहीं हो पा रहा

ख़तरे में ज़िन्दगी

  • 1 दिसंबर 2016

इराक़ी सेना ने छह हफ्ते पहले मूसल को आईएस के नियंत्रण से वापस लेने के लिए जो अभियान शुरू किया था, उसकी वजह से हज़ारों नागरिक विस्थापित हुए हैं. यही लोग अब चरमपंथियों के अत्याचारों के बारे में खुलकर बात कर रहे हैं.