ट्रंप से हुई बातचीत पर पाकिस्तान ने चुप्पी साधी

इमेज कॉपीरइट Reuters

अमरीका के नवनिर्वाचित राष्ट्रपति डोनल्ड ट्रम्प और पाकिस्तानी प्रधानमंत्री नवाज़ शरीफ़ की टेलीफोन पर बातचीत दोनों दोशों से अलग-अलग तरह के बयान आने के बाद पाकिस्तान ने मामले पर चुप्पी साध ली है.

बीबीसी से बात करते हुए पाकिस्तानी विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता नफ़ीस ज़करया ने इस पर टिप्पणी करने से इनकार कर दिया.

उनका कहना था, "हमारे पास उनके (ट्रम्प के कार्यालय के कर्मचारियों) की ओर से कोई बयान नहीं आया है इसलिए मैं इस पर टिप्पणी नहीं करूंगा. '

पाकिस्तान के प्रधानमंत्री नवाज़ शरीफ़ ने दो दिन पहले यानी बुधवार को डोनल्ड ट्रम्प को बधाई देने के लिए फोन किया था.

जिसके बाद प्रधानमंत्री हाउस ने परंपरा के विपरीत दोनों प्रमुखों के बीच होने वाली बातचीत का पूरा ब्यौरा प्रेस विज्ञप्ति के माध्यम से जारी किया.

इसमें कहा गया कि 'ट्रम्प पाकिस्तान के अनसुलझी समस्याओं में योगदान करने के लिए तैयार है.'

नतीजतन अमरीकी मीडिया और पूर्व अमेरिकी सरकारी अधिकारियों ने पाकिस्तान की गंभीर आलोचना करते हुए इसे राजनयिक शिष्टाचार के ख़िलाफ़ बताया.

इस संबंध में पाकिस्तानी विदेश मंत्रालय का कहना है कि वो किसी और सरकारी संस्था की कार्रवाई से संबंधित टिप्पणी नहीं कर सकते.

'जब भी कोई नया राष्ट्रपति आता है तो परंपरा के अनुसार दुनिया के सभी प्रमुख कॉल करते हैं. प्रधानमंत्री नवाज शरीफ ने भी ऐसा ही किया है. '

पाकिस्तानी प्रधानमंत्री के साथ टेलीफोन पर ट्रम्प की बातचीत पर आलोचना के बाद डोनल्ड ट्रम्प के टीम के कर्मचारियों ने अपने प्रतिक्रिया में एक बयान जारी किया.

टीम ने दोनों नेताओं के बीच होने वाली बातचीत का अपना अलग ब्यौरा जारी किया है.

मीडिया रिपोर्टों के अनुसार ट्रम्प की टीम ने कहा है कि 'नवनिर्वाचित राष्ट्रपति डोनल्ड ट्रम्प और पाकिस्तानी प्रधानमंत्री के बीच प्रभावी बातचीत हुई है जिसमें द्विपक्षीय संबंधों को मजबूत बनाने पर बात की गई.'

रिपोर्ट में बिना किसी सलाहकार का नाम लिए कहा गया है कि पाकिस्तान की ओर से जारी बयान में ऐसी बातें की गईं जो डोनल्ड ट्रम्प के कहने का उद्देश्य नहीं था. '

पाकिस्तान प्रेस इनफ़ॉर्मेशन ब्यूरो ने एक प्रेस बयान में कहा था कि ट्रंप ने नवाज़ शरीफ़ की तारीफ़ की है, कहा है कि पाकिस्तान एक शानदार देश है और पाकिस्तान के लोग सबसे समझदार लोग हैं.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)