'रोहिंग्या मुसलमानों का खात्मा रोके म्यांमार'

बांग्लादेश में रोहिंग्या लोगों को हिरासत में लिया जा रहा है.

मलेशिया के विदेश मंत्रालय ने म्यांमार में अल्पसंख्यक रोहिंग्या मुसलमानों के जातीय संहार की कड़े शब्दों में निंदा की है.

समाचार एजेंसी एपी के मुताबिक इस बयान में कहा गया है कि रोहिंग्या मुसलमानों की हत्याओं को तुरंत बंद किया जाना चाहिए. बयान में कहा गया है कि दक्षिण पूर्व एशिया के कई देशों में रोहिंग्या मुसलमान रहते हैं और ऐसी घटनाओं से क्षेत्र की शांति और स्थिरता को खतरा पैदा हो रहा है.

मलेशिया का कहना है कि उसने रोहिंग्या मुसलमानों का मुद्दा मजहबी नज़रिए से नहीं, बल्कि मानवीय नज़रिए से उठाया है.

मलेशिया के विदेश मंत्रालय के इस बयान से इन दोनों देशों के बीच कूटनीतिक दरार और गहरी हो गई है.

मलेशिया के प्रधानमंत्री नज़ीब रज़ाक के रविवार को क्वालालम्पुर में रोहिंग्या मुसलमानों की एकता रैली में शामिल होने की उम्मीद की जा रही है.

उधर, म्यांमार का कहना है कि मलेशिया को उसके आंतरिक मामलों में दखल देना बंद करना चाहिए.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉयड ऐप के लिए यहां क्लिक करें. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)