'सऊदी पर बोरिस जॉनसन ने जो कहा वो उनकी निजी राय'

बोरिस जॉनसन
इमेज कैप्शन,

ब्रिटेन के विदेश मंत्री बोरिस जॉनसन

ब्रिटेन ने अपने ही विदेश मंत्री के सऊदी अरब पर दिए बयान से ख़ुद को अलग कर लिया है. ब्रिटिश प्रधानमंत्री के प्रवक्ता ने कहा कि सऊदी अरब पर बोरिस जॉनसन का बयान उनकी निजी राय है न कि सरकार की यह आधिकारिक सोच है.

पिछले हफ्ते जॉनसन ने कहा था कि सऊदी अरब ब्रिटेन का सहयोगी है लेकिन वह मध्य-पूर्व में छद्म युद्ध में शामिल है.

विदेशी मामलों की सिलेक्ट कमिटी के चेयरमैन ने बीबीसी से कहा, ''हमारे विदेश मंत्री बौद्धिक रूप से तेज तर्रार हैं. वह मुद्दों के बारे में सोचते हैं और पूरी तरह से उस पर ध्यान देते हैं. बोरिस ने निजी राय रखी है. मीडिया में हर चूक को हाथों हाथ ले लिया जाता है.''

उन्होंने आगे कहा, ''बोरिस और प्रधानमंत्री के पास अतिरिक्त कौशल है और ब्रिटेन को दोनों की ज़रूरत है.'' जॉनसन ने यह बयान पिछले हफ्ते रोम में आयोजित एक कॉन्फ्रेंस में दिया था. बोरिस जॉनसन के इस का फुटेज को 'द गार्डियन' अख़बार ने पब्लिश किया था. इसके बाद ही इस मामले पर विवाद शुरू हुआ था.

इमेज कैप्शन,

बहरीन की कॉन्फ्रेंस में सऊदी किंग के साथ ब्रिटिश प्रधानमंत्री

बोरिस जॉनसन ने कहा था, ''यहां जो नेता मजहब को लेकर अलग-अलग तबकों में दुर्व्यवहारों को बढ़ावा दे रहे हैं, इसके पीछे उनके राजनीतिक हित हैं. यह पूरे इलाके में एक सबसे बड़ी समस्या है. मेरे लिए त्रासदी यह है- और आप इस इलाके में हमेशा एक छद्म युद्ध से लड़ रहे हैं. इन देशों में एक मजबूत नेतृत्व नहीं है.''

बोरिस ने कॉन्फ्रेंस में कहा था, ''यहां कोई मजबूत नेतृत्व नहीं है जिसके सहारे धार्मिक शत्रुता को खत्म किया जा सके, शियाओं और सुन्नियों के बीच दरार कम की जा सके, लोगों को साथ लाया जा सके. इस इलाके में एक दूरदर्शी नेतृत्व की ज़रूरत है. सऊदी, ईरान से लेकर सभी लोग एक छद्म युद्ध में शामिल हैं.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए यहां क्लिक करें. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)