रूसी हैकिंग: अपनी ही पार्टी में घिरे ट्रंप

  • 13 दिसंबर 2016
इमेज कॉपीरइट EPA
Image caption अपनी पत्नी मेलानिया ट्रंप और सीनेट नेता मिच मैक्कानल (दाएं) के साथ डोनल्ड ट्रंप

अमरीका के निर्वाचित राष्ट्रपति डोनल्ड ट्रंप की ही रिपब्ल्किन पार्टी के वरिष्ठ नेताओं ने राष्ट्रपति चुनाव में रूसी हैकिंग की जांच का समर्थन किया है.

अमरीकी सीनेट में रिपब्लिकन पार्टी के नेता मिच मैक्कानल और हाउस स्पीकर पॉल रायन के मुताबिक़ जांच करके पता लगाना चाहिए कि रूसी हैकिंग ने इन राष्ट्रपति चुनाव के नतीजों को कितना प्रभावित किया.

पढ़ें: ट्रंप को बढ़ाने के लिए रूस ने दिया दखल

अमरीकी ख़ुफ़िया एजेंसी सीआईए ने अपने आकलन में कहा है कि रूस की हैकिंग की वजह से रिपब्लिकन उम्मीदवार डोनल्ड ट्रंप को चुनाव में डेमोक्रेटिक उम्मीदवार हिलेरी क्लिंटन पर बढ़त मिली. सीआईए के मुताबिक़ चुनाव में रूसी हैकिंग का मक़सद था ट्रंप को मदद पहुंचाना.

ये भी पढ़ें: वन चाइना पॉलिसी पर क्या बोले ट्रंप

इमेज कॉपीरइट Reuters

डोनल्ड ट्रंप सीआईए के इस दावे को पहले ही ख़ारिज कर चुके हैं. लेकिन एक प्रेस कॉन्फ़्रेंस में उनकी पार्टी के नेता मिच मैक्कानल ने कहा, "रूस, अमरीका का दोस्त नहीं है और अमरीकी साइबर सिक्योरिटी में किसी भी तरह की बाहरी सेंध बहुत चिंता की बात है."

पॉल रायन ने भी मैक्कानल की बातों का समर्थन किया लेकिन साथ ही कहा कि ख़ुफ़िया एजेंसियों को किसी भी पार्टी विशेष के एजेंडे के लिए इस्तेमाल नहीं किया जाना चाहिए.

दोनों ही नेताओं ने कहा कि रूसी हैकिंग के इन आरोपों की जांच उनकी अपनी जांच कमेटियां भी करेंगी.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉयड ऐप के लिए यहां क्लिक करें. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

मिलते-जुलते मुद्दे