आईएस का आत्मघाती हमला, 48 यमन सैनिकों की मौत

इमेज कॉपीरइट AP

यमन के दक्षिणी पोत शहर अदन में हुए आत्मघाती हमले में कम से कम 48 सैनिकों की मौत हो गई है और 84 अन्य घायल हैं.

ये हमला उस वक्त किया गया जब ये सैनिक अल-सवलाबन सैन्य अड्डे के नज़दीक वेतन लेने के लिए कतार में खड़े थे.

यमन में कौन किससे लड़ रहा है?

यमन की लड़ाई

इमेज कॉपीरइट AFP

अधिकारियों का कहना था कि आत्मघाती हमलावर इन सैनिकों की भीड़ में जाकर मिल गया और फिर धमाका किया.

तथाकथित इस्लामिक स्टेट ने इस हमले की ज़िम्मेदारी ली है. कुछ दिनों पहले भी इसी सैन्य अड्डे पर ऐसा ही हमला हुआ था जिसमें 48 सैनिकों की मौत हो गई थी.

अगस्त महीने में हुए आत्मघाती हमले में कम से कम 70 लोग मारे गए थे.

जंग के बीच खाने को तरसता यमन

यमन में आत्मघाती हमला, 45 की मौत

ये हमला सेना के भर्ती सेंटर में हुआ था जिसकी ज़िम्मेदारी तथाकथित इस्लामिक स्टेट ने ली थी.

अदन पर अंतरराष्ट्रीय मान्यता प्राप्त राष्ट्रपति अब्द राब्बुह मंसूर हादी की सरकार की समर्थन कर रहे धड़ों का नियंत्रण है.

ये शिया हूथी विद्रोहियों और उनके सहयोगियों के ख़िलाफ़ लड़ रहे हैं जिन्होंने यमन की राजधानी सना पर वर्ष 2014 में कब्ज़ा जमा लिया था.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

मिलते-जुलते मुद्दे