बर्लिन के क्रिसमस बाज़ार में दौड़ाई लॉरी, 12 की मौत

  • 20 दिसंबर 2016
इमेज कॉपीरइट Reuters

जर्मनी की राजधानी बर्लिन में एक व्यस्त क्रिसमस बाज़ार में एक लॉरी के दौड़ा देने से कम-से-कम 12 लोगों की मौत हो गई है और 50 लोग घायल हैं.

इमेज कॉपीरइट Reuters
Image caption बाज़ार में लॉरी घुसने के बाद घटनास्थल की तस्वीर

जर्मनी के गृह मंत्री ने कहा है कि ऐसे संकेत मिले हैं जिससे लगता है कि ये जानबूझकर किया गया एक हमला है.

बर्लिन पुलिस ने कहा है कि वे पोलैंड में एक निर्माण स्थल से एक ट्रक के चोरी होने की ख़बरों की जाँच कर रहे हैं.

नीस में भीड़ पर लॉरी हमला, '70 की मौत'

नीस: 'मैं चिल्लाता रहा, वो ट्रक दौड़ाता रहा'

इमेज कॉपीरइट AFP

संदिग्ध

पुलिस ने बताया है कि लॉरी के ड्राइवर को गिरफ़्तार कर लिया गया है और उससे पूछताछ हो रही है.

जर्मनी के सुरक्षा सूत्रों का कहना है कि ये व्यक्ति अफ़ग़ानिस्तान या पाकिस्तान से फ़रवरी में जर्मनी आया था जिसने वहाँ शरण लेने के लिए आवेदन किया था. एक अज्ञात सवार मारा गया है.

इमेज कॉपीरइट Reuters
Image caption लगभग 50 लोग घायल बताए जा रहे हैं

इस संदिग्ध हमले के बाद फ़्रांस के क्रिसमस बाज़ारों में सुरक्षा बढ़ा दी गई है. वहाँ नीस शहर में इस साल 14 जलाई को ऐसा ही एक ट्रक हमला हुआ था जिसमें 86 लोग मारे गए थे.

नीस हमले की ज़िम्मेदारी तथाकथित इस्लामिक स्टेट गुट ने ली थी.

घटना

जर्मन समाचार एजेंसी डीपीए के अनुसार पुलिस को लगता है कि लॉरी बाज़ार के भीतर करीब 50 से 80 मीटर तक दौड़ती रही. उस वक़्त वहाँ रात के सवा आठ बज रहे थे.

इमेज कॉपीरइट Getty Images

वीडियो फ़ुटेज से पता चलता है कि बाज़ार में लगे कई स्टॉल टूट गए हैं और लोग ज़मीन पर गिरे हुए हैं.

ये बाज़ार ब्राइशाइप्लात्ज़ में स्थित है और कायसर विलहेम मेमोरियल चर्च के नज़दीक है.

इमेज कॉपीरइट Reuters
Image caption ये क्रिसमस बाज़ार पश्चिम बर्लिन के मध्य में स्थित है.

बर्लिनर मॉर्गनपोस्ट के एक रिपोर्टर ने बाज़ार के हालात के बारे कहा कि यहां का दृश्य डरावना है.

लॉरी की तस्वीरों से पता चलता है कि उसका रजिस्ट्रेशन पड़ोसी देश पोलैंड का है. पोलैंड की मीडिया में कहा जा रहा है कि शायद ये लॉरी सोमवार को चुराई गई हो.

ऐसा कहा जा रहा है कि इस ट्रक में मृत पाया गया व्यक्ति पोलैंड का नागरिक था जबकि जिस संदिग्ध को गिरफ़्तार किया गया है उसकी नागरिकता की पुष्टि की जा रही है.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

बीबीसी न्यूज़ मेकर्स

चर्चा में रहे लोगों से बातचीत पर आधारित साप्ताहिक कार्यक्रम

सुनिए