हाईजैक विमान: लगभग सभी यात्री विमान से बाहर, हाईजैकरों का समर्पण

लीबिया विमान हाईजैक
इमेज कैप्शन,

इस रास्ते हाईजैक हुआ लीबियाई विमान

लीबिया के अन्तरराज्यीय विमान को हाईजैक करके माल्टा ले जाने वाले दोनों युवकों ने सरेंडर कर दिया है.

माल्टा के प्रधानमंत्री और लेबर पार्टी के प्रमुख जोसफ़ मस्कट ने इस ख़बर की पुष्टि की है. ट्वीट के ज़रिए उन्होंने बताया कि दोनों युवकों को जांच के बाद गिरफ़्तार कर लिया गया है. साथ ही विमान को भी सेना ने अपने कब्ज़े में ले लिया है.

इमेज कैप्शन,

माल्टा के पीएम ने पूरे घटनाक्रम का ब्यौरा अपने ट्विटर फ़ीड के ज़रिए दिया.

गिरफ़्तारी से ठीक पहले हाईजैकरों ने विमान से बाहर आकर 'मुअम्मर अल-गद्दाफ़ी के दौर' वाले पुराने लीबियाई झंडे फहराए और लीबिया के सरकारी टीवी को दिए इंटरव्यू में गद्दाफ़ी समर्थक होने की बात कही. इस वक्त लीबिया में अमरीकी शह पर चलने वाली अल्पकालीन सरकार है.

हाईजैकर जाना चाहते थे इटली

विमान के कप्तान अली मिलाद ने दोनों हाईजैकरों की पहचान मौसा शाहा और अहमद अली के तौर पर की. अली ने बताया कि दोनों हाईजैकरों ने उनसे विमान को इटली ले चलने को कहा था.

इमेज कैप्शन,

दोनों हाईजैकरों की तस्वीर

प्लेन हाईजैक: पूरा घटनाक्रम

  • लीबिया की इंटरनल फ़्लाइट संख्या 8U209 को हाईजैक किया गया.
  • अफ्रीकिया एयरवेज़ का यह विमान 111 यात्रियों के साथ सेभा हवाई अड्डे से त्रिपोली के लिए उड़ा था.
  • शुरुआती ख़बरों में इसे संभावित हाईजैक बताया गया था. लेकिन हाईजैकरों के पास बम और हथियार होने की ख़बर के बाद स्थिति गंभीर हुई.
  • दो हाईजैकरों ने इस घटना को अंजाम दिया.
  • माल्टा की सरकार से दोनों ने 'राजनीतिक शरण' भी मांगी.
  • दोनों ख़ुद को मुअम्मर अल-गद्दाफ़ी का समर्थक बता रहे थे. दोनों ने नारेबाजी करते हुए लीबिया के पुराने झंडे दिखाए.
  • स्थानीय समय अनुसार, दोपहर के 1.50 बजे यात्रियों को छोड़ना शुरू किया.
  • 3.40 बजे दोनों ने सरेंडर कर दिया.

एक वरिष्ठ पत्रकार ने ट्विटर पर हाईजैकरों की यह तस्वीर साझा की:

माल्टा के पीएम ट्विटर पर यह जानकारी देते रहे:

पूरे घटनाक्रम की कुछ तस्वीरें:

इमेज कैप्शन,

लीबिया का यात्री विमान हाइजैक.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए यहां क्लिक करें. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर भी फ़ॉलो कर सकते हैं.)