केवल तीन को लेकर क्यों उड़ा विमान

  • 23 दिसंबर 2016
ब्रिटिश एयरवेज इमेज कॉपीरइट LAURA STEVENS
Image caption फ्लाइट में तीनों दोस्त

ब्रिटिश एयरवेज की एक फ्लाइट ने केवल तीन महिला पैसेंजरों को लेकर उड़ान भरी. इन पैसेंजरों के जीवन के लिए यह बेहद ही ख़ास दिन रहा.

33 साल की लारी-लिन वालेर ने कहा कि उनके साथ दो दोस्तों की बुकिंग अपग्रेड कर बिज़नेस क्लास में कर दी गई. लारी ने कहा कि उन्हें शैम्पेन की बोतल दी गई. इन तीनों महिलाओं ने कैप्टन के साथ सेल्फी भी ली.

इमेज कॉपीरइट LAURA STEVENS
Image caption कैप्टन के साथ ली सेल्फी

17 दिसंबर को फ्लाइट का यह ट्रिप इंग्लैंड में जिब्राल्टर से हीथ्रो तक था. लारी की दोस्त 34 साल की लाउरा स्टीवेन्स और 35 साल की सारा हंट ने बिज़नेस क्लास में मिलने वाली सुविधाओं का खूब इस्तेमाल किया.

लारी ने कहा, ''हमें इस तरह का मौका अब फिर से कभी नहीं मिलने जा रहा. हमारी फ्लाइट देर हो गई थी लेकिन जब हम लोग जिब्राल्टर एयरपोर्ट पहुंचे तो सारे लोग पहले की फ्लाइट से चले गए थे.

लारी ग्लास्गो की रहने वाली हैं. वह क्रिसमस में अपने परिवार के साथ विटनी में रह रही हैं. लारी ने बताया, ''एयरपोर्ट पर केवल हमलोग ही थे. चारों तरफ बिल्कुल शांति थी. कई दुकानें बंद हो चुकी थीं. हमें थोड़ा अटपटा भी लग रहा था. हमें तुरंत अहसास हुआ कि हम तीनों के अलावा यहां केवल स्टाफ हैं. फ्लाइट में हम तीनों के साथ चालक दल के सदस्य थे. हमें कैप्टन ने बताया कि इससे पहले केवल तीन लोगों के साथ उसने फ्लाइट कभी नहीं उड़ाई.''

इमेज कॉपीरइट LAURA STEVENS
Image caption ट्रिप के दौरान फ्लाइट में तीनों दोस्त

लारी ने कहा, ''यह ट्रिप काफी मज़ेदार था. मैंने पूछा कि क्या हम लोग बिज़नेस क्लास में ही बैठ जाएं. उन्होंने तत्काल अनुमति दे दी. हम तीनों बिज़नेस क्लास में आगे की सीट पर बैठ गए. उन्होंने हमें शैंम्पेन परोसी. सच में कितना प्यारा ट्रिप था. मज़ा आ गया. जब फ्लाइट के लैंड करने का वक्त हुआ तो पायलट ने हमें जानकारी दी. पायलट ने कहा कि फ्लाइट ब्लाइंड लैंडिग करने जा रहा रही है. इस लैंडिंग में केवल रडार का इस्तेमाल किया जाता है. हालांकि हमने कहा कि अभी और शैम्पेन पीने का मन है.''

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए यहां क्लिक करें. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर भी फ़ॉलो कर सकते हैं.)

बीबीसी न्यूज़ मेकर्स

चर्चा में रहे लोगों से बातचीत पर आधारित साप्ताहिक कार्यक्रम

सुनिए

मिलते-जुलते मुद्दे