नस्लवादी कमेंट करने वाले को गले लगाकर दी माफ़ी

लीआना इ

एक काली अमरीकी चीयरलीडर ने अपने ऊपर नस्लवादी टिप्पणी करने वाले एक कम उम्र के लड़के को माफ़ कर दिया है.

नस्लीय टिप्पणी करने वाला 17 साल का यह लड़का अभी हाई स्कूल में पढ़ता है. अमरीकी चीयरलीडर लीआना ई ने उनसे मुलाक़ात की और उसे गले लगाकर माफ़ किया.

लीआना ने शर्मिंदा महसूस कर रहे लड़के के साथ अपनी मुस्कुराती हुई तस्वीर भी ट्वीट की है.

इमेज कैप्शन,

लीआना और दूसरी चीयरलीडर स्नैपचैट पर डाली गई तस्वीर में लड़कों के साथ.

लीआना ने ट्वीट किया, "एक हफ़्ते पहले तक मैं नस्लीय अपमान का शिकार हुई थी. जिसे पूरी दुनिया में शेयर किया गया. आज मैंने अपने ऊपर नस्लवादी टिप्पणी करने वाले को माफ़ कर दिया है और मैं इसकी वजह से ख़ुद को ज्यादा मज़बूत महसूस कर रही हूं."

यह विवाद उस वक़्त शुरू हुआ जब 14 दिसंबर को लीआना और दूसरी चीयरलीडर्स ने रसावील के वेस्टर्न हाई स्कूल के दो छात्रों के साथ तस्वीर खिंचवाई थी.

यह तस्वीर रक्तदान को लेकर चल रहे एक अभियान को प्रमोट करने के सिलसिले में खिंचवाई गई थी.

बाद में नस्लवादी टिप्पणी करने वाले लड़के ने इस तस्वीर को स्नैपचैट पर शेयर करते हुए कैप्शन में एक नस्लीय टिप्पणी की थी.

इसके बाद यह तस्वीर सोशल मीडिया पर वायरल हो गई और दुनिया भर के लोगों ने इस पर नाराजगी जाहिर की.

जब लीआना ने यह सुना कि उस लड़के को धमकियां मिल रही हैं तो वो परेशान हो उठी. इसके बाद लीआना स्कूल के प्रिंसिपल से मिलीं.

उन्होंने कहा, "मैं इस बात को लेकर परेशान थी वो उस लड़के साथ कैसा सलूक कर रहे हैं. जब प्रिंसिपल रिक डेविस की बात से मुझे लगा कि वो इस मामले को ठीक से नहीं संभाल रहे हैं तो मेरा दिल टूट गया."

फिर प्रिसिंपल ने इन दोनों की आपस में मुलाक़ात करवाई.

जब दोनों आपस में मिले तब लीआना उससे हाथ मिलाने को आगे बढ़ी लेकिन लड़के ने उन्हें फूल देकर और गले लगाकर उनका अभिवादन किया.

इमेज कैप्शन,

इंडियानापोलिस में जन्मी लीआना दो साल की उम्र से डांस कर रही हैं.

लीआना ने बताया कि उस लड़के ने ग़लती से ऐसा कर दिया और इसे लेकर वो काफी दुखी है. वो वाकई में दिल्लगी करने की कोशिश कर रहा था. वो मुझे और दूसरों को दुख पहुंचाने की वजह से काफी दुखी है.

लड़के के साथ उसकी मां भी आईं थीं. उसकी मां ने कहा कि उसने घर में ऐसी भाषा नहीं सीखी है.

लीआना का कहना है कि कोई भी परफेक्ट नहीं होता है. मैं उम्मीद करती हूं कि लोग अपने आप को देखेंगे और मानेंगे कि हर किसी से ग़लती होती है.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)