जिन्होंने शुरू किया 'ब्राज़ीलियन वैक्स' का चलन

दीवार पर कलाकारी

बग़ल और जांघों के आसपास के बाल साफ़ करने के लिए वेक्स का इस्तेमाल अब सामान्य बात है लेकिन 'ब्राज़ीलियन वैक्स' का ट्रेंड शुरू कैसे हुआ?

लंदन के एक ऑफ़िस के टॉयलेट में युवतियां अपने संवरने के तरीक़ों पर चर्चा कर रही हैं. उनमें 19 साल की जेनिफ़र ने कहा कि वो हर माह शरीर के इन जगहों के बाल साफ़ करती हैं.

मगर साथ ही जेनिफ़र ने ये भी कहा, "इसमें बहुत तकलीफ़ होती है, जो मैंने अब तक सहा है, लेकिन अब मुझे इसकी आदत हो गई है."

इन सबके साथ वहां मौजूद 27 साल की लीज़ा कहती हैं, "मैं नीचे के बाल साफ़ रखना ही पसंद करती हूँ. कुछ युवतियां बीच पर जाने के लिए बाल साफ़ करती हैं तो कुछ लड़कों को आकर्षित करने के लिए, जो लड़कों के लिए करती हैं वो नीचे भी साफ़ करती हैं."

जब से 'सेक्स एंड द सिटी' ने बताया है कि महिलाएं अपने जांघ के आसपास के बालों का क्या करती हैं? ट्रिम करती हैं, शेव करती हैं, वैक्स करती हैं या फिर ऐसे ही रहने देती हैं. तब से इस विषय पर सार्वजनिक चर्चा और शोध हुए हैं.

शोध बताते हैं कि इन जगहों के बालों को संवारने का चलन तेज़ी से बढ़ रहा है. इसी साल हुए एक शोध में हिस्सा लेने वाली 84 फ़ीसदी अमरीकी महिलाओं ने कहा कि उन्होंने यहां के केश को किसी न किसी तरह ज़रूर संवारा. 62 फ़ीसदी ने कहा कि वो जांघों और पास के केश को पूरी तरह हटाना पसंद करती हैं.

ये भी पढ़ें-

युवतियां महिलाओं के मुक़ाबले इन बालों को ज़्यादा संवारती हैं.

जर्नल ऑफ़ सेक्सुअल मेडिसीन में हुए एक शोध ने इस चलन को पोर्नोग्राफ़ी की उपलब्धता से जोड़ा है.

इसी शोध में बताया गया कि ये चलन दक्षिणी अमरीका में शुरू हुआ और इसी वजह से इन बालों को पूरी तरह साफ़ करने के लिए 'ब्राज़ीलियन' शब्द भी चलन में आया.

मैनहटन के जे सिस्टर्स सैलून को चलाने वाली जोनीक पाडीहा कहती हैं, "ब्राज़ीलियन बिकनी वैक्स न्यूयॉर्क में शुरू हुई थी न की ब्राज़ील में." 90 के दशक में ये सैलून इस पद्धति को प्रचलित करने में अग्रणी था.

जांघ के नीचे के सभी बालों को साफ़ कर देने और सामने कुछ छोड़ देने वाले स्टाइल को 'ब्राज़ीलियन वैक्स' कहते हैं.

जोनीक बताती हैं, "ग्राहक की मांग के मुताबिक़ सामने छोड़ दिए गए बाल के थोड़े हिस्से को त्रिभुज, सीधी रेखा या दिल की शक्ल दे दी जाती है. ये आप जो चाहें उसे पाने की आज़ादी है."

जोनीक सात ब्राज़ीलियन बहनों में से सबसे छोटी हैं, उन सबके नाम जे से ही शुरू होते हैं और इसलिए ही उन्हें 'जे सिस्टर्स' कहा जाता है.

उनका सैलून अब हर साल 60 लाख डॉलर की कमाई करता है. लेकिन इसकी शुरुआत बहुत मामूली थी.

जे सिस्टर्स पर लिखी किताब 'वैक्स एंड द सिटी' की लेखिका लौरा मालिन कहती हैं कि ये अपने दम पर कामयाबी हासिल करने वाली महिलाओं की शानदार कहानी है.

ये सातों बहने मूलरूप से ब्राज़ील के तटीय शहर विटोरिया की हैं जो रियो और बाहिया के मध्य पड़ता है. उनके पिता उन्हें घर से बाहर अकेले नहीं जाने देते थे.

लेकिन जब उनका कारोबार ठप्प हो गया तो इन बहनों ने अपने घर में ही संजाने-संवारने का काम शुरू कर लिया. धीरे-धीरे घर उनकी कमाई से चलने लगा और शहर में उनके तीन सैलून हो गए.

जिस पारंपरिक घर में बाहर निकलने का एकमात्र रास्ता शादी ही हो उसमें चौथी बहन जोसेली ने दुनिया घूमने का सपना देखा और 1982 में वो अपनी बचत के पैसों से न्यूयॉर्क में एक परिचित से मिलने पहुँच गईं.

वो एक महीने रहने के लिए गईं थी लेकिन कुछ ही दिनों में उनका पैसा ख़त्म हो गया. उनके पास दो ही रास्ते थे या तो पैसा कमाया जाए या वापस देश लौटा जाए.

उन्हें अंग्रेज़ी नहीं आती थी लेकिन एक पुर्तगाली महिला के सैलून में काम मिल गया. जोसली नाख़ून संवारने में माहिर थीं. मिनीक्यूर देने की उनकी शोहरत फैल गई और उन्हें एक ताक़वर ग्राहक मिल गया- अदनान ख़ासक़ज़ी.

हथियारों के अमीर सौदागर अदनान ख़ासक़ज़ी उन्हें 100 डॉलर प्रति घंटा की दर से पूरे दिन के लिए बुक करते और बैठकों के बीच में समय मिलने पर अपने नाखून संवरवाते.

उनके ज़रिए जोसली बहुत से प्रभावशाली लोगों से मिली जिनमें हॉलीवुड सितारे और एल्ले और मैरी क्लेयर जैसी फ़ैशन पत्रिकाओं के संपादक भी शामिल थे.

बहुत जल्द ही वो अच्छा कमाने लगीं और उनकी बहनें एक के बाद एक उनके पास आ गईं. 1987 में जे सिस्टर्स ने न्यूयॉर्क में अपना पहला सैलून खोला.

1990 के दशक में उन्होंने अपनी सिग्नेचर बिकनी वैक्स शुरू की. इसमें इसमें जांघों के आसपास के सभी बाल साफ़ किए जाते थे, सिर्फ़ सामने या अगल-बगल के ही नहीं. हालांकि तब तक इसका नाम ब्राज़ीलियन वैक्स नहीं पड़ा था.

जे सिस्टर्स की इस सिग्नेचर वेक्स तकनीक का अविष्कार उनकी बहन जेनिया ने किया था. इसके पीछे भी एक क़िस्सा है.

मालिन बताती हैं, "70 के दशक में जेनिया अपने पति के साथ बाहिया के तट पर बियर का आनंद ले रहीं थीं. वो एक ख़ूबसूरत लड़की की सुंदरता को निहार रहीं थी लेकिन जब वो उनके पासे गुज़री तो उसकी छोटी सी बिकनी से बाहर निकलते बालों ने उन्हें व्याकुल कर दिया."

मालिन कहती हैं कि उस पल में उस सुंदर लड़की की छवि चकनाचूर हो गई.

लेकिन जब जेनिया ख़ुद अपने बाल सैलून में साफ़ करवाना चाहती थीं तो कोई उसके लिए तैयार नहीं हुआ और उनसे कहा गया, "आप पागल हैं, मैं आपको वहां नहीं छूउंगी."

तब जेनिया ख़ुद आइना लगे वैक्सिंग बूथ में घुस गईं और लगभग तीन घंटे तक वहां रहीं जिस दौरान उन्हें बहुत दर्द भी हुआ लेकिन फिर वो चहकती हुईं बाहर निकली.

इसके बाद उन्होंने सैलून में साथ काम करने वाली दूसरी युवतियों को भी ऐसा करने के लिए तैयार किया.

न्यूयॉर्क में बिकनी वैक्स जल्द ही चर्चित हो गया.

जोनीक कहती हैं, "हमसे एक ही ग़लती हुई कि हमने इसे जे सिस्टर्स वेक्स नहीं कहा."

90 के दशक ने ऑनलाइन पोर्न भी तेज़ी से फैल रहा था जिसमें मॉडल और अभिनेता पूरी तरह उन अनचाहे बालों को साफ़ किए दिखते थे.

प्लेबॉय और पेंटहाऊस जैसी वयस्क पत्रिकाएं भी बाल न के बराबर ही दिखाती थीं.

जोनीक कहती हैं कि प्लेबॉय ने सैलून कॉल किया और कहा कि ये विचार सबसे पहले उन्हें आया है. उन्होंने कहा, "ये हमारा है, हम पोर्न साइट के लिए ऐसा करते हैं." जोनीक ने बचाव में कहा कि ब्राज़ील में सब ऐसे ही करते हैं.

वो कहती हैं, "मैंने कहा कि हम अपनी संस्कृति का प्रचार कर रहे हैं. यही वजह है कि दुनियाभर में ये ब्राज़ीलियन वैक्स के नाम से जानी जाती है. मैंने ऐसा कहा ताकि वो हमारा पीछा छोड़ दें. लेकिन ये यहीं शुरू हुई थी न की ब्राज़ील में."

लोग भूले नहीं है कि जे सिस्टर्स ही इस चलन को शुरू करने में अग्रणी थीं. 'गॉसिप गर्ल' और 'सेक्स एंड द सिटी' जैसे शो के लिए उनकी राय ली गई.

ब्राज़ील में जे सिस्टर्स के जीवन पर कॉमेडी ड्रामा भी बन रहा है.

लेकिन अब ब्राज़ीलियन वैक्स का भविष्य क्या है?

लगता है ये चलन अब ख़त्म होने की ओर है. हाल ही में हुए एक शोध में पता चला है कि जघन क्षेत्र को संवारना यौन संक्रमण से भी जुड़ा है. ग्रेट ब्रिटेन की साइकिल टीम ने ओलंपिक के दौरान बिकनी वेक्स पर प्रतिबंध लगा दिया था.

लंदन के टॉयलेट में ये बातें भी सुनी गईं. 23 वर्षीय एलेक्स कहते हैं, "लड़के कह रहे हैं - ऐसा न करो. अगर तुम सारे बाल साफ़ कर दोगी तो बिलकुल बच्ची जैसी लगोगी."

21 वर्षीय कैमरून हां में हां मिलाते हुए कहती हैं, "हां, मेरे दोस्त कहते हैं कि उन्हें बाल पसंद हैं क्योंकि ऐसे व्यक्ति के साथ वो अधिक परिपक्व महसूस करते हैं."

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉयड ऐप के लिए यहां क्लिक करें. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)