ट्रंप के लिए व्हाइट हाउस में क्या है ख़ास इंतज़ाम?

कैसे तैयार होता है व्हाइट हाउस नए राष्ट्रपति के लिए?

वॉशिंगटन में 20 जनवरी को जब सुबह होगी तो राष्ट्रपति ओबामा व्हाइट हाउस के पलंग पर आंखें खोलेंगे. लेकिन जब रात होगी तो वहां ओबामा नहीं डोनल्ड ट्रंप सोएंगे.

दिन के ठीक बारह बजे तक व्हाइट हाउस ओबामा का होगा और परंपरा के अनुसार उसके एक मिनट पहले तक भी नए राष्ट्रपति वहां प्रवेश नहीं कर सकते.

डोनल्ड ट्रंप से उम्मीदें

जानिए कौन हैं डोनल्ड ट्रंप?

डोनल्ड ट्रंप के जीतने की 5 वजह

बरसों से चली आ रही परंपराओं के अनुसार हुक़ूमत की अदला-बदली के लिए व्हाइट हाउस के मुलाज़िमों के पास सिर्फ़ छह घंटे का समय का होता है.

सुबह के साढ़े दस बजे के आसपास जब डोनल्ड ट्रंप अपने उद्घाटन भाषण के लिए तैयार हो रहे होंगे, दो बड़े ट्रक व्हाइट हाउस के अंदर आएंगे और उल्टी तरफ़ मुंह करके खड़े हो जाएंगे.

इमेज कॉपीरइट Getty Images

सौ से कुछ ज़्यादा स्टाफ़ बिजली की फुर्ती के साथ एक ट्रक में राष्ट्रपति ओबामा का बंधा हुआ सामान लादना शुरू कर देंगे और दूसरे ट्रक से डोनल्ड ट्रंप का सामान उतारा जाने लगेगा.

मीडिया को दिए गए बयानों में व्हाइट हाउस प्रबंधन का कहना है कि सारा कुछ बिल्कुल फ़ौजी चुस्ती के साथ होता है.

उसी दौरान दीवारों की पेंटिंग हो जाती है, नए कालीन लग जाते हैं, शीशों की सफ़ाई हो जाती है और शाम होते होते 132 कमरों का व्हाइट हाउस नए राष्ट्रपति और उनके परिवार का स्वागत करने को तैयार हो जाता है.

ख़ास बात ये कि जब तक नए राष्ट्रपति व्हाइट हाउस में घुस नहीं जाते सभी ज़िम्मेदारी उनकी अपनी होती है.

बराक ओबामा जब 2009 में शिकागो से वाशिंगटन आए थे तो अपना पूरा सामान उन्हें अपने खर्च पर लाना पड़ा था. और जब एक बार उनका सामान व्हाइट हाउस के स्टाफ़ के सुपुर्द हो जाता है तो फिर उसे कैसे खोलना है, कहां रखना है ये सब कमर्चारियों की ज़िम्मेदारी हो जाती है.

आमतौर से सभी राष्ट्रपति या फिर उनकी पत्नी व्हाइट हाउस के अंदर की सजावट में अपने हिसाब से कुछ फेरबदल करते हैं.

डोनल्ड ट्रंप अपनी पत्नी मेलानिया ट्रंप के साथ बिल्कुल चमक-दमक वाले अपने पेंटहाउस में सुनहरे प्लेट वाले पलंगों, मंहगे झूमर और मंहगी से मंहगी नक्काशी के बीच रहने के आदि हैं.

लेकिन उन्होंने कहा है कि वो व्हाइट हाउस की सजावट में कोई ख़ास तब्दीली नहीं करने जा रहे.

इमेज कॉपीरइट AFP

वैसे भी जब नए राष्ट्रपति अंदर प्रवेश कर जाते हैं उसके बाद ही वो कोई फेरबदल करवा सकते हैं.

न्यूयॉर्क पत्रिका के अनुसार मेलानिया ट्रंप एक ग्लैम रूम बनाना चाहती हैं जो उनके मेक-अप और साजो-सज्जा के लिए होगा.

पत्रिका के अनुसार उनके मेक-अप में सवा घंटे का वक्त लगता है और उस कमरे की रौशनी और बाकी सजावट पर ख़ासा ध्यान दिया जाएगा.

इमेज कॉपीरइट EPA

आमतौर पर बड़े ऐतिहासिक महत्व वाले चीज़ों में फेरबदल नहीं किए जाते, लेकिन पूर्व राष्ट्रपतियों ने छोटे-मोटे फेरबदल किए हैं.

ओबामा ने एक टेनिस कोर्ट को बास्केटबॉल कोर्ट में तब्दील करवाया था, फ़ोर्ड ने एक आउटडोर स्विमिंग पूल बनवाया था तो क्लिंटन ने सात या आठ सीटों वाला एक हॉट टब बनवाया था.

बीस जनवरी की देर शाम जब ट्रंप अपने भाषण, फिर परेड और इनॉगरल बॉल कहलाने वाले समारोह से लौटेंगे तो कुछ हल्का-फ़ुल्का खाना भी तैयार होगा जो व्हाइट हाउस के रसोइयों की पसंद का होगा.

लेकिन अगली सुबह से पसंद-नापंसद सिर्फ़ एक आदमी की होगी--डोनल्ड ट्रंप की.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

मिलते-जुलते मुद्दे