कनाडा में छह की जान लेनेवाला ट्रंप का प्रशंसक

कनाडा इमेज कॉपीरइट FACEBOOK
Image caption एलेक्जेंडर बिसोनेट

कनाडा में क्वेबेक की एक मस्जिद में हमला कर छह मुस्लिम श्रद्धालुओं की जान लेने के मामले में कनाडा की पुलिस ने एक फ्रेंच-कनाडाई छात्र पर आरोप तय किया है. एलेक्जेंडर बिसोनेट पर छह लोगों की जान-बूझकर हत्या और पांच लोगों की हत्या की कोशिश का आरोप है.

रविवार की शाम क्वेबेक इस्लामिक कल्चरल सेंटर में हमले के बाद 27 साल के एलेक्जेंडर को थोड़े समय के लिए सिटी कोर्ट में लाया गया था. जब हमला हुआ तब लोग यहां नमाज अदा कर रहे थे. इस हमले में मारे गए और जख्मी हुए लोगों की याद में पूरे कनाडा में हलचल देखने को मिली.

कनाडा: मस्जिद में गोलीबारी, छह की मौत

जब यह गोलीबारी हुई तब 50 से ज़्यादा लोग इस मस्जिद में थे. इस हमले में 19 लोग घायल हुए हैं. सारे घायल पुरुष हैं. पांच लोग अब भी हॉस्पिटल में हैं. इनमें से दो की हालत गंभीर बनी हुई है.

इमेज कॉपीरइट Getty Images
Image caption न्यूज़ कॉन्फ्रेंस के दौरान इस्लामिक कल्चरल सेंटर के लोग

इस हमले को लेकर मोरक्को से संबंध रखने वाले एक शख़्स मोहम्मद ख़ादिर को भी गिरफ़्तार किया गया था. ख़ादिर को बतौर चश्मदीद पेश किया जा रहा है. क्वेबेक की प्रांतीय पुलिस ने मारे गए सभी छङ लोगों के नाम जारी कर दिए हैं.

पुलिस ने संदिग्ध को क्वेबेक सिटी से उसकी कार से गिरफ़्तार किया. एलेक्जेंडर ने ही पुलिस को फ़ोन कर कहा था कि वह इस मामले में मदद करना चाहता है. स्थानीय मीडिया के अनुसार एलेक्जेंडर ने लेवल यूनिवर्सिटी से राजनीतिक विज्ञान और मानवशास्त्र की पढ़ाई की है. इस यूनिवर्सिटी का कैंपस मस्जिद से तीन किलोमीटर की दूरी पर स्थित है.

Image caption कनाडा के मुस्लिम नेताओं का कहना है कि यह हमला हैरान करने वाला नहीं है

सोशल नेटवर्क के अनुसार वह अमरीकी राष्ट्रपति डोनल्ड ट्रंप और फ्रेंच नेशनल फ्रंट नेता मरीन ले पेन को पसंद करता है. एक अधिकारी ने बताया कि एलेक्जेंडर की पहचान एक दक्षिणपंथी के रूप में है.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

मिलते-जुलते मुद्दे