गूगल, ऐपल, फ़ेसबुक ने दी ट्रैवल बैन को चुनौती

इमेज कॉपीरइट AFP

अमरीका में सबसे बड़ी टेक्नॉलॉजी कंपनी ऐपल, फ़ेसबुक, और गूगल समेत 97 कंपनियों ने अमरीका के राष्ट्रपति डोनल्ड ट्रंप के यात्रा प्रतिबंध को सामूहिक कानूनी चुनौती दी है.

इन कंपनियों का कहना है कि इस प्रतिबंध से उनके व्यापार को काफ़ी नुकसान होगा.

सैन फ़्रांसिस्को की एक अदालत में एक बयान में कहा गया है जिन सात मुस्लिम बहुल देशों के नागरिकों के आने पर प्रतिबंध लगाए गए हैं उससे इन कंपनियों को प्रतिभाओं को ढूंढने में मुश्किल होगी. एक अदालत के आदेश पर फिलहाल ये प्रतिबंध निलंबित कर दिए गए हैं.

ट्रंप के ट्रैवल बैन के फ़ैसले पर कोर्ट की रोक

ट्रैवल बैन पर न मिली राहत तो ट्रंप बोले- सीमा पर रखो कड़ी नज़र

सुरक्षा पर ट्रंप का खर्च ओबामा से कितना ज़्यादा?

प्लेबैक आपके उपकरण पर नहीं हो पा रहा
ट्रंप के समर्थक हैं अपनी पसंद से ख़ुश

ऐपल से जुड़े रहे डेनियल ग्रॉस कहते हैं,''मैं नाज़ी जर्मनी से आए शरणार्थियों का पोता हूं जो अमरीका आए थे. मेरे अस्तित्व के लिए मैं अमरीका का कर्जदार हूं क्योंकि अमरीका ने हमारे लिए दरवाज़े खोले थे. मेरे दादा व्यवसायी थे और कई लोगों को नौकरी देते थे. मैं भी व्यवसायी हूं और इस तरह अमरीका को कुछ लौटा रहा हूं.''

इसके अलावा अमरीका के जस्टिस विभाग ने डोनल्ड ट्रंप के बैन को निलंबित करने के फ़ैसले को चुनौती दी है.

जस्टिस विभाग ने दलील दी है कि प्रतिबंध राष्ट्रपति की शक्तियों के दायरे में आने वाला कानूनी कदम है और संघीय अदालत ने इस पर रोक लगाकर ग़लत किया है.

सैन फ़्रांसिस्को की अदालत इस पर मंगलवार को सुनवाई करेगी.

ट्रैवल बैन पर न मिली राहत तो ट्रंप ने चेताया

फ्रांस के चुनाव में भी ट्रंप वाले बदलाव का असर

बैन क़ायम रखने की ट्रंप की अपील ख़ारिज

इमेज कॉपीरइट AP

अमरीका के राष्ट्रपति डोनल्ड ट्रंप ने 25 जनवरी को सात मुस्लिम बहुत देशों के नागरिकों के अमरीका में प्रवेश पर प्रतिबंध लगा दिया था.

इन देशों में सीरिया, ईरान, लीबिया, इराक़, सोमालिया, सूडान और यमन शामिल थे.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं)

मिलते-जुलते मुद्दे