नीदरलैंड्स- चुनाव में 'इस्लाम विरोधी' पार्टी पिछड़ी

  • 16 मार्च 2017
इमेज कॉपीरइट AP
Image caption एक्ज़िट पोल के मुताबिक प्रधानमंत्री मार्क रूट की पार्टी सबसे आगे है.

एक्ज़िट पोल के मुताबिक नीदरलैंड्स में बुधवार को हुए आम चुनावों में प्रधानमंत्री मार्क रूट की पार्टी को सबसे ज़्यादा सीटें मिल रही हैं.

एक्ज़िट पोल के अनुमान के मुताबिक उनकी मध्य-दक्षिणपंथी वीवीडी पार्टी को 150 में से 31 सीटें मिली हैं.

प्रधानमंत्री की पार्टी अगली तीन पार्टियों से काफ़ी ज़्यादा सीटें ले रही है. गीर्ट वाइल्डर्स की प्रवासी विरोधी फ्रीडम पार्टी (पीवीवी), द क्रिश्चियन डेमोक्रेट पार्टी और द लिबरल पार्टी को 19-19 सीटें मिल रही हैं.

प्लेबैक आपके उपकरण पर नहीं हो पा रहा
नीदरलैंड्स में शरणार्थियों के लिए एक अनोखी योजना

गीर्ट वाइल्डर्स की पार्टी ओपीनियन पोल में आगे चल रही थी लेकिन बीते कुछ दिनों में उनके समर्थन में भारी गिरावट आई थी.

वाइल्डर्स की प्रवासी विरोधी पार्टी ने नीदरलैंड्स में मस्जिदों और कुरान को प्रतिबंधित करने का वादा भी किया था.

नीदरलैंड्स के चुनावों में मतदाताओं ने बढ़-चढ़कर हिस्सा लिया. विशेषज्ञों का अनुमान है कि 80 प्रतिशत से ज़्यादा मतदान हुआ है.

इमेज कॉपीरइट AP
Image caption गीर्ट वाइल्डर्स की पार्टी ने इस्लाम विरोधी रुख अपनाया है.

विशेषज्ञों का अनुमान है कि भारी मतदान का फ़ायदा यूरोपीय संघ समर्थक और लिबरल पार्टियों को हो सकता है.

सरकार बनाने के लिए वीवीडी पार्टी को अन्य पार्टियों से गठबंधन करना पड़ सकता है. बहुमत हासिल करने के लिए वीवीडी को कम से कम तीन अन्य पार्टियों को साथ लाना पड़ेगा.

यूरोप में नीदरलैंड्स के चुनावों पर पैनी नज़र रखी जा रही थी.

बहुत से लोग इन चुनावों के नतीजों को यूरोप के अन्य देशों में कट्टरपंथी पार्टियों के उभार के संकेत के रूप में भी देख रहे थे.

फ्रांस में अगले महीने राष्ट्रपति चुनाव होने हैं जबकि जर्मनी में सितंबर में आम चुनाव होंगे.

यूरोप के देशों में कट्टरपंथी राष्ट्रवादी पार्टियां तेज़ी से उभर रही हैं.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

बीबीसी न्यूज़ मेकर्स

चर्चा में रहे लोगों से बातचीत पर आधारित साप्ताहिक कार्यक्रम

सुनिए