लंदन हमलावर का नाम ख़ालिद मसूद - पुलिस

  • 23 मार्च 2017
लंदन हमला इमेज कॉपीरइट Getty Images

लंदन में संसद के सामने बुधवार को हुए हमले के बाद ब्रिटेन के सुरक्षा बलों ने देर रात बर्मिंघम शहर में छापेमारी की और आठ लोगों को गिरफ़्तार कर लिया.

उधर, बेल्जियम में अधिकारियों ने कहा है कि एंटवर्प शहर में एक कार 'हमले' को नाकाम किया गया है.

पुलिस ने लंदन में संसद के बाहर हमला करने वाले व्यक्ति की पहचान 52 वर्षीय ख़ालिद मसूद बताई है.

वो इंग्लैंड की कैंट काउंटी में पैदा हुआ था और फिर हाल में वेस्ट मिडलैंड्स में रहने लगा था. ब्रितानी नागरिक ख़ालिद मसूद इस हमले में मारा गया था.

बीबीसी के सुरक्षा संवाददाता फ़्रैंक गार्डनर के अनुसार इस्लामी चरमपंथी संगठन इस्लामिक स्टेट ने इस हमले को अंजाम देने का दावा किया है.

समाचार एजेंसियों के अनुसार समाचार एजेंसी अमाक़ के मुताबिक आईएस के एक 'सैनिक' ने विस्टमिंस्टर पर हमला किया.

लंदन में छह जगहों पर छापेमारी में आठ लोगों को गिरफ़्तार किया गया है. हमले में चार लोग मारे गए और 29 लोग घायल हैं जिनमें से सात की हालत गंभीर है.

लंदन में 'आतंकवादी घटना', पांच की मौत

लंदन हमला: 'लोग चीख रहे थे नीचे झुको वापस जाओ'

प्लेबैक आपके उपकरण पर नहीं हो पा रहा
लंदन हमले की आंखों देखी

बेल्जियम कार 'अटैक'

एंटवर्प पुलिस ने बताया कि शुक्रवार को एक तेज रफ्तार वाली कार फुटपाथ पर चढ़ गई जिसके कारण लोगों में अफरातफरी का माहौल हो गया और लोगों को रास्ते से हटना पड़ा.

पुलिस प्रवक्ता के मुताबिक गश्त पर मौजूद सुरक्षा कर्मी ने दखल दिया लेकिन तेज रफ्तार वाली कार के ड्राइवर ने रेड लांघी और वहां से भागने की कोशिश की.

बाद में पुलिस ने उस ड्राइवर को एक कार पार्किंग से गिरफ्तार कर लिया. अफ्रीकी मूल के इस फ्रांसीसी नागरिक की उम्र 39 साल बताई गई है.

उसके पास शॉटगन और चाकू बरामद किया गया है. एंटवर्प के मेयर ने बताया कि एक हमले को नाकाम किया गया है.

लंदन डरने वाला नहीं है: टेरीज़ा मे

लंदन में लोगों पर हमला, एक औरत की मौत

इमेज कॉपीरइट PA
Image caption मौके पर आपातकालीन सेवा का एक दृश्य साथ में ज़मीन पर पड़े दो चाकू

ब्रिटेन का हमलावर

लंदन पुलिस ने कहा है कि 52 वर्षीय खालिद मसूद को मारपीट और हथियार रखने के लिए दोषी पाया गया था लेकिन उसे कभी आतंकवाद संबंधित मामले में गिरफ़्तार नहीं किया गया था.

इससे पहले ब्रिटेन की प्रधानमंत्री टेरीज़ा मे ने संसद में कहा, "ये हमलावर अकेले ही काम कर रहा था और अभी तक ऐसा मानने के कोई कारण नहीं है कि तत्काल और हमले हो सकते हैं. हमलावर ब्रिटेन में पैदा हुआ था और कुछ साल पहले ख़ुफ़िया एजेंसी एमआई-5 ने उसके बारे में जांच की थी. हालांकि, वर्तमान में वो ख़ुफ़िया एजेंसियों की उस पर नज़र नहीं थी. "

ब्रिटेन में आतंकवाद विरोधी एजेंसी के चीफ मार्क रॉले ने बाताया कि हमले में चार लोग मारे गए हैं. इसमें हमलावर भी शामिल है.

उधर, बर्मिंघम में सुरक्षा बलों ने दुकानों की एक क़तार के ऊपर दूसरी मंजिल के एक फ्लैट में धावा बोला था.

लंदन के कार्यवाहक उप कमिश्नर और आतंकवाद निरोधी प्रमुख मार्क रॉले ने कहा है कि पीड़ित अलग-अलग देशों से हैं.

प्लेबैक आपके उपकरण पर नहीं हो पा रहा
लंदन में 'आतंकी घटना'

क्या हुआ?

22 मार्च बुधवार को लंदन में दोपहर 2 बजकर 40 मिनट पर (भारतीय समय रात 8 बजकर 10 मिनट) एक हमलावर ने संसद के पास टेम्स नदी पर बने पुल वेस्टमिंस्टर ब्रिज पर तेज़ी से कार दौड़ा दी.

इसमें कम-से-कम दो लोग मारे गए और कई लोग घायल हो गए. इसके बाद यह कार संसद के बार की रेलिंग से जा भिड़ी.

हमलावर कौन था? क्या वो अकेला था?

ब्रिटेन की प्रधानमंत्री टेरीज़ा मे ने कहा है कि केवल एक हमलावर था.

उन्होंने संसद में कहा- "ये हमलावर अकेले ही काम कर रहा था और अभी तक ऐसा मानने के कोई कारण नहीं है कि तत्काल और हमले हो सकते हैं. हमलावर ब्रिटेन में पैदा हुआ था और कुछ साल पहले ख़ुफ़िया एजेंसी एमआई-5 ने उसके बारे में जांच की थी."

पुलिस का कहना है कि वो हमलावर के सहयोगियों के बारे में पता लगाने की कोशिश कर रहे हैं. पुलिस ने ये भी कहा है कि संसद के बाहर हुए हमले का संबंध इस्लामी कट्टरता से हो सकता है.

लंदन: 'ट्यूब स्टेशन हमला आतंकवादी घटना'

पहली बार लंदन की सुरक्षा एक महिला के हाथ

इमेज कॉपीरइट Reuters
Image caption वेस्टमिंस्टर ब्रिज पर आपातकालीन सेवा

हाथ में चाकू लिए हमलावर बाहर निकला और संसद परिसर में घुसने की कोशिश की.

पुलिस ने उसे रोका. एक पुलिसकर्मी को उसने चाकू मार दिया जिससे उसकी मौत हो गई.

उस पुलिसकर्मी के पास कोई हथियार नहीं था.

इसके बाद दूसरे हथियारबंद पुलिसकर्मियों ने हमलावर को गोली मार दी.

लंदन: स्टेशन हमले में आरोप तय

एशियाई छात्रों पर लंदन में हमला

इमेज कॉपीरइट Getty Images
Image caption सुरक्षा घेरे में ब्रितानी संसद

हताहतों के बारे में क्या पता है?

अभी तक केवल मारे गए पुलिसकर्मी का नाम ज़ाहिर किया गया है.

48 वर्षीय पुलिस कॉन्स्टेबल कीथ पामर 15 साल से पुलिस सेवा में थे.

घायलों में तीन और पुलिसकर्मी शामिल हैं जो एक समारोह से लौट रहे थे और वेस्टमिंस्टर ब्रिज पर चल रहे थे.

इनमें दो की हालत चिंताजनक बताई जा रही है.

लंदन: हमले की साज़िश रची, पति पत्नी को उम्रकैद

लंदन हमलों की जाँच का काम शुरू होगा

इमेज कॉपीरइट PA

वेस्टमिंस्टर ब्रिज पर घायल हुए लोगों में दक्षिण कोरिया के पाँच पर्यटक और रोमानिया के दो नागरिक शामिल हैं.

लंकाशर की एक यूनिवर्सिटी के चार छात्र भी घायल हुए हैं.

एक स्कूल ट्रिप पर लंदन आए फ़्रांस के तीन बच्चे भी घायल हैं.

एक महिला को टेम्स नदी से बचाया गया. वो गंभीर रूप से घायल है.

अभी ये स्पष्ट नहीं है कि वो पुल से नदी में कैसे गिरी.

एक फ़ोटोग्राफ़र ने बताया कि उसने एक व्यक्ति को पुल से नीचे फ़ुटपाथ पर गिरते हुए देखा.

इमेज कॉपीरइट Reuters

लंदन में क्या सुरक्षा बंदोबस्त किए गए हैं?

हमले के वक़्त संसद की कार्यवाही चल रही थी, जिसे स्थगित कर दिया गया.

राजनेताओं, पत्रकारों और आगंतुकों को लगभग पाँच घंटे तक संसद से बाहर नहीं जाने दिया गया.

संसद से लेकर पास की वेस्टमिंस्टर ऐबे चर्च से सैकड़ों लोगों को सुरक्षित दूसरी जगहों पर ले जाया गया.

इमेज कॉपीरइट EPA

गुरुवार को संसद की दोनों सदनों की बैठक नियमित समय पर ही शुरू होगी.

लंदन के मेयर ने कहा है कि आनेवाले कुछ दिनों में लंदन की सड़कों पर हथियारबंद और बिना हथियार वाले पुलिसकर्मियों की गश्त बढ़ा दी जाएगी.

इमेज कॉपीरइट AFP

ब्रिटेन में ख़तरे की आशंका को बढ़ाकर सीवियर (अति गंभीर) घोषित कर दिया गया है.

इसका मतलब है कि वहाँ हमले होने की आशंका बहुत ज़्यादा है.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

बीबीसी न्यूज़ मेकर्स

चर्चा में रहे लोगों से बातचीत पर आधारित साप्ताहिक कार्यक्रम

सुनिए

मिलते-जुलते मुद्दे