ट्रंप ने आईएस संबंधी ख़ुफ़िया जानकारी रूस से साझा की - वॉशिंगटन पोस्ट

  • 16 मई 2017
पुतिन, ट्रंप इमेज कॉपीरइट AFP/Getty Images

अमरीका के राष्ट्रपति डोनल्ड ट्रंप पर कथित इस्लामिक स्टेट ग्रुप के बारे में रूस के साथ गोपनीय ख़ुफ़िया जानकारी साझा करने का आरोप लगा है.

अमरीकी अख़बार 'द वॉशिंगटन पोस्ट' ने दावा किया है कि राष्ट्रपति ट्रंप ने पिछले हफ्ते व्हाइट हाउस में एक मीटिंग के दौरान रूस के विदेश मंत्री सर्गेई लावरोव और रूसी राजदूत के साथ ये जानकारी साझा की.

मौजूदा और पूर्व अधिकारियों के हवाले से अख़बार ने आरोप लगाया है कि राष्ट्रपति ट्रंप ने कथित इस्लामिक स्टेट ग्रुप के बारे में ऐसी जानकारी साझा की जो अमरीका को एक सहयोगी ने दी थी और रूस को ये जानकारी देने के लिए अधिकृत नहीं किया गया था.

'दुनिया में सबसे ख़तरनाक है ट्रंप की पार्टी'

ट्रंप ने पूर्व एफ़बीआई चीफ़ को ट्विटर पर दी चेतावनी

प्लेबैक आपके उपकरण पर नहीं हो पा रहा
'बताएंगे रूस ने क्यों दिया अमरीकी चुनाव में दख़ल'

राष्ट्रपति की बातचीत

हालांकि अमरीकी विदेश मंत्री रेक्स टिलरसन ने एक बयान जारी करके कहा है कि राष्ट्रपति की बातचीत में ख़ास तरह के ख़तरों के बारे में चर्चा हुई. लेकिन इस बैठक में सूत्र या सैनिक कार्रवाई के बारे में कोई चर्चा नहीं हुई.

पत्रकारों के साथ बातचीत में ट्रंप के राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहकार जनरल एचआर मैकमास्टर ने कहा कि ये रिपोर्ट ग़लत है.

उन्होंने कहा, "अमरीका के राष्ट्रपति अमरीकी लोगों की सुरक्षा को सबसे ज़्यादा गंभीरता से लेते हैं. जो रिपोर्ट आज रात आई है, वो पूरी तरह ग़लत है. राष्ट्रपति ट्रंप और रूसी विदेश मंत्री ने दोनों देशों के लिए जो ख़तरे हैं, उन पर चर्चा की. कहीं भी ख़ुफ़िया सूत्र या काम करने के तरीके के बारे में कोई चर्चा नहीं हुई. राष्ट्रपति ने उन सैनिक अभियानों के बारे में भी कोई जानकारी नहीं दी, जो सार्वजनिक नहीं हैं."

ट्रंप का एफ़बीआई निदेशक को हटाना क्यों संदेह पैदा करता है?

फ़्लिन को लेकर ओबामा ने ट्रंप को दी थी चेतावनी

प्लेबैक आपके उपकरण पर नहीं हो पा रहा
रूस और अमरीका

राष्ट्रपति बनने से पहले भी रूस के साथ संबंधों को लेकर ट्रंप पर सवाल उठते रहे हैं. ये भी आरोप लगे थे कि डोनल्ड ट्रंप के चुनाव प्रचार अभियान में रूस ने मदद की थी.

अमरीकी ख़ुफ़िया एजेंसियों ने रूस पर ये आरोप लगाया था कि उसने साइबर हमले कर चुनाव में अमरीकी मतदाताओं को प्रभावित किया था. हालांकि राष्ट्रपति बनने के बाद ट्रंप ने इसे पूरी तरह ख़ारिज़ कर दिया था.

प्लेबैक आपके उपकरण पर नहीं हो पा रहा
अमरीका और रूस के रिश्तों पर असर?

दुनिया के लिए ख़तरा हैं ट्रंप और किम जोंग-उन?

सीरिया-कोरिया पर ट्रंप और पुतिन ने की बात

मीडिया से ख़फ़ा ट्रंप ने छोड़ी डिनर पार्टी

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

बीबीसी न्यूज़ मेकर्स

चर्चा में रहे लोगों से बातचीत पर आधारित साप्ताहिक कार्यक्रम

सुनिए

मिलते-जुलते मुद्दे