अब क़तर और बहरीन के बीच नया संकट

क़तर, बहरीन इमेज कॉपीरइट AFP
Image caption क़तर के तत्कालीन प्रधानमंत्री हमाद बिन जासिम अल-थानी और अल-वफ़ाक़ के नेता अली सलमान के बीच की कथित बातचीत का ऑडियो जारी किया गया है

बहरीन के सरकारी टेलीविज़न चैनल ने क़तर पर सरकार विरोधी साजिश में शामिल होने का आरोप लगाया है.

हालांकि ये मामला साल 2011 का है और बहरीन का आरोप है कि सरकार विरोधी विपक्षी गुटों के साथ मिलकर क़तर इस साजिश को अंजाम दे रहा था.

सरकारी टेलीविज़न चैनल ने उस कथित टेलीफ़ोन रिकॉर्ड्स को भी जारी किया है जिसके बारे में कहा जा रहा है कि ये क़तर के तत्कालीन प्रधानमंत्री हमाद बिन जासिम अल-थानी और अल-वफ़ाक़ के नेता अली सलमान के बीच की बातचीत बताया जा रहा है.

अल-वफ़ाक़ के नेता अली सलमान को बहरीन में चरमपंथ फैलाने के आरोप लगते रहे हैं. उन्हें चरमपंथ से जुड़े अपराध के लिए सजा भी सुनाई गई है.

सऊदी अरब: हज के लिए मक्का जा सकेंगे क़तर के मुसलमान

कहां गुम हो गए सऊदी अरब के लापता शहज़ादे?

सऊदी अरब में हिंसा, इल्ज़ाम क़तर पर

इमेज कॉपीरइट AFP
Image caption क़तर के तत्कालीन प्रधानमंत्री हमाद बिन जासिम अल-थानी हिजबुल्ला के महासचिव हसन नसरूल्लाह के साथ, तस्वीर 2010 की है

क़तर का संकट

इस बातचीत को लेकर ये दावा किया जा रहा है कि दोनों ने बहरीन की सल्तनत के ख़िलाफ़ अस्थिरता को बढ़ावा देने के लिए सहमति जताई थी.

टेलीफोन कॉल को लेकर बहरीन की सरकार ने जांच शुरू कर दी है. जून में बहरीन, सऊदी अरब और संयुक्त अरब अमीरात और मिस्र ने जून में क़तर से कूटनीतिक रिश्ते खत्म कर लिए थे.

ये चार मुल्क क़तर की हुकूमत पर ईरान के करीबी चरमपंथी संगठनों से सांठगांठ का आरोप लगाते रहे हैं और क़तर इन आरोपों का पुरजोर तरीके से खंडन करता रहा है.

हालांकि क़तर ने बहरीन के इन आरोपों पर फिलहाल कोई प्रतिक्रिया नहीं दी है और शेख हमाद की तरफ से भी इस मसले पर कोई प्रतिक्रिया नहीं आई है.

शेख हमाद प्रधानमंत्री और विदेश मंत्री की जिम्मेदारी से 2013 में ही अलग हो गए थे.

क्या खिचड़ी पक रही है सऊदी और इसराइल के बीच?

हज यात्रा पर क़तर-सऊदी अरब के बीच पेंच

हज से सऊदी अरब को कितनी कमाई?

प्लेबैक आपके उपकरण पर नहीं हो पा रहा
क़तर संकट आगे क्या होगा?

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

मिलते-जुलते मुद्दे