मलेशिया: इस्लामी स्कूल में आग, 23 बच्चे दो शिक्षकों की मौत

  • 14 सितंबर 2017
आग स्कूल के ऊपरी मंजिल पर लगी इमेज कॉपीरइट Reuters

मलेशिया की राजधानी कुआलालंपुर में एक धार्मिक स्कूल में आग लगने से कम से कम 25 छात्रों और शिक्षकों की मौत हो गई.

अधिकारियों के मुताबिक तहफ़ीज़ दारुल क़ुरान इत्तिफ़ाक़िया में आग तड़के उस वक़्त लगी जब बच्चे सो रहे थे.

अग्निशमन विभाग के निदेशक खिरुद्दीन दुहराम ने एएफपी को बताया, " मृतकों में 23 बच्चे और 2 वार्डन शामिल हैं."

मृतकों की उम्र फिलहाल स्पष्ट नहीं है.

रिपोर्ट के मुताबिक कई अन्य बच्चों को पास के ही अस्पताल में ले जाया गया है. इनमें से कुछ ने धुएं के कारण दम घुटने की शिकायत की है.

निजी इस्लामी स्कूल अपनी वेबसाइट पर बच्चों और उनके परिवार वालों की क्लास में ली गई तस्वीरें लगाता है.

अधिकारियों का कहना है कि ये पिछले 20 सालों में देश में हुई आग की घटनाओं में सबसे भयंकर हो सकती है

हाल के दिनों में लगातार आग लगने की घटनाओं पर मलेशियाई प्रशासन ने निजी स्कूलों के सुरक्षा उपायों पर अपनी चिंता जताई है.

स्थानीय मीडिया में आई रिपोर्ट्स के मुताबिक 2015 से अब तक 200 बार आग लगने की ऐसी घटनाएं हुई हैं.

प्रधानमंत्री नजीब रज्ज़ाक ने ट्वीट कर हताहतों के प्रति अपनी संवेदना व्यक्त की है.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

बीबीसी न्यूज़ मेकर्स

चर्चा में रहे लोगों से बातचीत पर आधारित साप्ताहिक कार्यक्रम

सुनिए

मिलते-जुलते मुद्दे