'लंदन में था कई लोगों को मारने का इरादा'

  • 15 सितंबर 2017
लंदन धमाका इमेज कॉपीरइट Getty Images

लंदन के दक्षिण-पश्चिम इलाके में भूमिगत ट्रेन में एक धमाका हुआ है. इस धमाके में कम से कम 22 लोग घायल हुए हैं.

चरमपंथ निरोधक सूत्रों ने बीबीसी को बताया है कि इस धमाके को एक चरमपंथी घटना के तौर पर देखा जा रहा है.

पुलिस का कहना है कि धमाके के लिए इम्प्रूवाइज्ड एक्सप्लोसिव डिवाइस यानी आईईडी का इस्तेमाल किया गया है.

लंदन डरने वाला नहीं है: टेरीज़ा मे

ट्रेन में ये डिवाइस रखने वाले शख्स की तलाश की जा रही है.

'धमाका ठी से नहीं हुआ'

ब्रिटेन की प्रधानमंत्री टेरीज़ा मे ने धमाके को कायरतापूर्ण हमला बताया है, उन्होंने कहा कि धमाके का मकसद बड़ा नुकसान पहुंचाना था.

कोब्रा इमरजेंसी कमेटी की बैठक के बाद टेरीज़ा मे ने कहा कि लंदन के परिवहन नेटवर्क में पुलिस की मौजूदगी बढ़ाई जाएगी.

धमाके की जांच में एमआई-5 के ख़ुफ़िया अधिकारी लगाए गए हैं.

अमरीका के राष्ट्रपति डोनल्ड ट्रंप ने इस हमले की निंदा की है, उन्होंने ट्वीट किया जिसमें उन्होंने कहा कि बीमार और विकृत लोग इसके पीछे हैं जो मेट्रोपोलिटन पुलिस की नज़र में थे. हालांकि टेरीज़ा मे ने कहा कि जांच के बारे में इस तरह के कयास लगाना मददगार नहीं होगा.

इमेज कॉपीरइट TWITTER/@RRIGS

घटनास्थल से ली गई तस्वीर में एक सुपरमार्केट बैग में रखी एक सफ़ेद बालटी में आग की लपटें नज़र आ रही हैं, और इसमें कुछ तार भी नज़र आ रहे हैं.

बीबीसी का मानना है कि इस डिवाइस में टाइमर लगाया गया था.

बीबीसी के रक्षा मामलों के संवाददाता फ्रैंक गार्डनर के मुताबिक, विस्फोटक पदार्थ के जानकारों का मानना है कि पार्सन्स ग्रीन स्टेशन पर धमाके के लिए जिस डिवाइस का प्रयोग किया गया, उसे इस हिसाब से बनाया गया था कि धमाका बड़ा हो और कई लोग मारे जाएं. लेकिन डिवाइस में ठीक तरह से धमाका नहीं हुआ.

लंदन के भूमिगत ट्रेन नेटवर्क के एक खुले हिस्से में बने पार्सन्स ग्रीन स्टेशन पर यात्रियों का कहना है कि ट्रेन के एक डिब्बे में कुछ धमाका सा हुआ जिसके बाद लपटें उठीं.

बाहर निकलने के लिए अफ़रा-तफ़री

यात्रियों ने बताया कि धमाके के बाद अफ़रा-तफ़री मच गई. ट्रेन के दरवाज़े खुलने के बाद यात्रियों ने जल्दबाज़ी में निकलने की कोशिश की जिससे सीढ़ी पर भगदड़ मची और कई लोग घायल हो गए.

ट्रांसपोर्ट फॉर लंदन ने ट्वीट किया, "हम पार्सन्स ग्रीन में हुई एक घटना की जांच कर रहे हैं."

इमेज कॉपीरइट Reuters

बीबीसी लंदन की प्रस्तोता रिज़ लतीफ़ ने बताया, "लोग दहशत में ट्रेन से उतर रहे थे, सुनने में यह धमाके जैसा था."

चश्मदीदों की ज़ुबानी डर की कहानी

इस धमाके के चश्मदीद पीटर क्राउली ने बताया कि उन्होंने विंबलडन से ट्रेन का सफर शुरू किया था.

उन्होंने बताया कि उनके सिर पर आग का गोला गिरा और कई लोग इससे भी बुरी स्थिति में हैं.

बीबीसी रेडियो 5 लाइव पर एक ट्रेन यात्री क्रिस वाइल्डिश ने बताया कि उन्होंने सुपरमार्केट बैग में रखी एक बालटी देखी जिसमें से आग की लपटें निकल रही थीं.

इमेज कॉपीरइट ALEX LITTLEFIELD

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

बीबीसी न्यूज़ मेकर्स

चर्चा में रहे लोगों से बातचीत पर आधारित साप्ताहिक कार्यक्रम

सुनिए

मिलते-जुलते मुद्दे