'जस्टिन बीबर का हमशक्ल' बन करता था यौन शोषण

  • 19 सितंबर 2017
योहान रामखिलावन इमेज कॉपीरइट WEST MIDLANDS POLICE

स्कूली बच्चियों को अश्लील तस्वीरें भेजने के लिए फ़ुसलाने के इरादे से इंटरनेट पर ख़ुद को जस्टिन बीबर का हमशक्ल दिखाने वाले एक शख्स को इंग्लैंड में 15 साल की सज़ा सुनाई गई है.

30 साल के इस शख्स का नाम योहान रामखिलावन है और इसने 14 यौन अपराध करने की बात स्वीकार कर ली है. इनमें एक छह साल की बच्ची का यौन शोषण भी शामिल है.

रामखिलावन को स्टैफर्ड क्राउन कोर्ट ने सज़ा सुनाई.

रामखिलावन ने इंटरनेट से एक किशोर की तस्वीर उठाई थी और उस तस्वीर को लड़कियों को फ़ुसलाने के लिए बनाई गई फ़र्ज़ी सोशल मीडिया प्रोफ़ाइल्स में इस्तेमाल किया था.

तस्वीरें मंगवाकर करता था ब्लैकमेल

वेस्ट मिडलैंड्स पुलिस ने कहा कि मॉरिशस में जन्मा रामखिलावन इंस्टाग्राम, व्हाट्सएप, स्काइप और फ़ेसबुक के माध्यम से 12 से 17 साल की उम्र की लड़कियों से बातचीत शुरू करता था.

फिर वह बातों को अंतरंग विषयों की तरफ़ घुमाता था और फिर नग्न तस्वीरों की मांग करता था.

भारत में सुरक्षित जगहों पर भी क्यों ख़तरे में हैं बच्चे?

किस तरह की मानसिकता के लोग बनाते हैं बच्चों को शिकार?

इमेज कॉपीरइट Getty Images
Image caption बच्चों को तस्वीरों के नाम पर ब्लैकमेल किया जाता था

कुछ पीड़ितों को तो कैमरे के सामने सेक्स से जुड़ी हरकतें करने के लिए भी मजबूर कर दिया गया था. उन्हें धमकी दी गई थी कि अगर ऐसा नहीं किया तो उनकी अश्लील तस्वीरों को परिजनों या दोस्तों को भेज दिया जाएगा.

ऐसे आया था पकड़ में

वेस्ट मिडलैंड्स पुलिस ने उस वक्त जांच शुरू की थी जब मैनचेस्टर में 12 साल की बच्ची को मेसेज भेजे जाने का मामला सामने आया था. आईपी ऐड्रेस को ट्रेस करते हुए पुलिस वॉलसल के एक घर तक जा पहुंची थी.

आख़िरकार रामखिलावन को मार्च में हर्ड्सफ़ील्ड के विक्टोरिया लेन से गिरफ्तार किया गया था.

पुलिस को उसके यहां से सैकड़ों अश्लील तस्वीरें मिली हैं. यहीं से पता चला कि उसने कॉवेंट्री, वॉलशल, लैनार्क, लिवरपूल, सैंट आइव्स, शोरहैम-बाइ-सी और लंदन के ईस्ट हैम में भी बच्चों को शिकार बनाया है.

'ब्लैकमेल करके बच्चों से करवाता था रिश्तेदारों का रेप'

बाल यौन शोषण वीडियो का 'हब' बना यूरोप

इमेज कॉपीरइट Getty Images
Image caption प्रतीकात्मक तस्वीर

कंप्यूटर की जांच में यह भी जानकारी मिली कि रामखिलावन ने न्यूज़ीलैंड, ब्राज़ील, यूएई और रूस में भी लड़कियों से संपर्क किया था.

रामखिलावन ने शुरू में तो यौन शोषण और बच्चों की अश्लील तस्वीरें रखने जैसे अपराध करने से इनकार किया, मगर वुल्वरहैम्पटन क्राउन कोर्ट में मुकदमे के दौरान उसने अपराध स्वीकार कर लिए थे.

सावधान! स्याह इंटरनेट पर हैं बच्चों के शिकारी

#BadTouch: ऐसे छूने वालों से रहें हमेशा सतर्क

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

बीबीसी न्यूज़ मेकर्स

चर्चा में रहे लोगों से बातचीत पर आधारित साप्ताहिक कार्यक्रम

सुनिए

मिलते-जुलते मुद्दे