अमरीका-क्यूबा में तनाव, वापस बुलाए राजनयिक

  • 29 सितंबर 2017
क्यूबा इमेज कॉपीरइट Reuters

अमरीका ने क्यूबा स्थित अपने दूतावास से ज़्यादातर कर्मचारियों को वापस बुला लिया है. मीडिया रिपोर्टों के मुताबिक अमरीकी कर्मचारियों पर सोनिक हथियारों से हमले के बाद यह क़दम उठाया गया है.

राजनयिकों पर हमले के बाद अमरीका ने अपने दूतावास से 60 फ़ीसदी कर्मचारियों को वापस बुला लिया है. इस मामले में एक वरिष्ठ अधिकारी ने नाम नहीं बताने की शर्त पर यह जानकारी दी है.

सूत्रों का कहना है कि अमरीकी नागरिकों को क्यूबा नहीं जाने की चेतावनी दी गई है, क्योंकि होटलों में और हमले हो सकते हैं. 20 से ज़्यादा राजनयिकों ने सेहत से जुड़ी समस्या की शिकायत की थी.

हालांकि क्यूबा ने इस तरह के किसी भी हमले से इनकार कर दिया है. पिछले हफ़्ते अमरीकी विदेश मंत्री रेक्स टिलर्सन ने कहा था कि हवाना (क्यूबा) में अमरीकी दूतावास बंद करने के फ़ैसले पर विचार किया जा रहा है.

क्यूबा-अमरीका: 54 साल बाद बहाल होंगे संबंध

ट्रंप ने ओबामा का क्यूबा समझौता 'रद्द' किया

इमेज कॉपीरइट Getty Images

अमरीकी दूतावास के कर्मचारियों ने कई तरह के मस्तिष्क आघात की शिकायत की है. ये सुन नहीं पा रहे हैं, चक्कर आ रहा है और मिचली से भी पीड़ित हैं. इसी तरह की दिक़्क़तों का सामना दो कनाडाई नागरिकों को भी करना पड़ा है.

सुरक्षा का सवाल

समाचार एजेंसी एसोसिएटेड प्रेस ने अधिकारियों के हवाले से बताया है कि अमरीका ने उन कमर्चारियों को क्यूबा छोड़ने के लिए कहा है जिनका रहना बहुत ज़रूरी नहीं है. इन्हें अपने परिवार के साथ वापस आने को कहा गया है. जिनका रहना बहुत ज़रूरी है उन्हें ही रहने के लिए कहा गया है.

इन अधिकारियों ने यह भी बताया है कि अमरीका क्यूबा में वीज़ा जारी करने की प्रक्रिया को भी अनिश्चित काल के लिए बंद करने जा रहा है. इन अधिकारियों ने यह भी बताया कि यह तब तक जारी रहेगा जब तक क्यूबा पूरी तरह से आश्वस्त न कर दे कि अमरीकी नागरिक वहां सुरक्षित हैं.

इमेज कॉपीरइट Getty Images

इसकी जांच में एफ़बीआई, कनाडाई पुलिस और क्यूबा की एजेंसियां लगी हुई हैं फिर कुछ निकलकर सामने नहीं आया कि 2016 के आख़िर में शुरू हुए ये हमले कैसे हो रहे हैं. कहा जा रहा है कि क्यूबा के राष्ट्रपति राउल कास्त्रो ने सुरक्षा को लेकर अमरीका को आश्वस्त किया है और कहा है कि इन हमलों में उनके देश का हाथ नहीं है.

दशकों से तनावपूर्ण संबंध के बाद अमरीका ने क्यूबा में 2015 में दूतावास फिर से खोला था. 1928 में काल्विन कुलेज के क्यूबा दौरे के बाद 2016 में बराक ओबामा क्यूबा जाने वाले अमरीका के पहले राष्ट्रपति थे.

जून महीने में राष्ट्रपति ट्रंप ने क्यूबा को लेकर ओबामा की नीतियों में आंशिक रूप से परिवर्तन किया था. हालांकि उन्होंने हवाना में अमरीकी दूतावास बंद नहीं करने की बात कही थी.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

बीबीसी न्यूज़ मेकर्स

चर्चा में रहे लोगों से बातचीत पर आधारित साप्ताहिक कार्यक्रम

सुनिए

मिलते-जुलते मुद्दे