उत्तर कोरिया में कैसा है आम जनजीवन

  • 30 सितंबर 2017
उत्तर कोरिया इमेज कॉपीरइट NK NEWS
Image caption प्योंगयांग मैट्रो पर घर को लौटते स्कूली बच्चे

अमरीकी राष्ट्रपति डोनल्ड ट्रंप और उत्तर कोरिया के सुप्रीम लीडर किम जोंग-उन के बीच वाक् युद्ध भले ही जारी हो, लेकिन उत्तर कोरिया में जनजीवन अपनी गति से चल रहा है.

वेबसाइट एनके न्यूज़ की एक टीम इसी महीने उत्तर कोरिया गई थी और उसने वहां के आम जनजीवन को जानने की कोशिश की.

इमेज कॉपीरइट Nk news

ये लोग समुद्र तटीय शहर वोंसन के क़रीब उलिम झरने के पास लोग पिकनिक में मगन हैं.

इमेज कॉपीरइट Nk news

ये बच्चे ट्रैक सूट पहने हुए हैं. ग़ौर से देखें तो उनपर पश्चिमी ब्रांड के नाम दिखाई देते हैं. संभव है कि ब्रांड के नाम की नकल की गई है.

इमेज कॉपीरइट Nk news

वोंसन और जापानी बंदरगाह निगाटा के बीच आवागमन के लिए पानी के जहाज का इस्तेमाल होता था. इसे 2006 में अंतरराष्ट्रीय प्रतिबंध लगने के बाद बंद कर दिया गया, लेकिन अभी भी वोंसन में इसका संचालन होता है.

इमेज कॉपीरइट Nk news

क्लैम्ज़ नाम के समुद्री सीप का पकवान यहां काफ़ी लोकप्रिय है. हालांकि आम तौर पर इसके उत्पादन का अधिकांश हिस्सा निर्यात कर दिया जाता है.

इमेज कॉपीरइट Nk news

जापान और चीन से आयातित इलेक्ट्रिक साइकिलें लंबे समय तक केवल राजधानी प्योंगयांग में दिखाई देती थीं. लेकिन अब ये दूसरे छोटे शहरों में भी दिखाई देने लगी हैं.

इमेज कॉपीरइट Nk news

लेकिन ट्रांसपोर्ट की स्थिति बहुत अच्छी नहीं है. ये आदमी बैलगाड़ी से कबाड़ को रिसाइकिल के लिए हैमहंग शहर ले जा रहा है.

इमेज कॉपीरइट Nk news

बीच में बैठी हुई महिला के पास जो प्लास्टिक का बैग है उस पर जापानी-चीनी ब्रांड मिनिसो लिखा हुआ है. मिनिसो ने अपना पहला ब्रांड स्टोर प्योंगयांग में खोला है.

इमेज कॉपीरइट Nk news

हालांकि यहां आम जनजीवन सामान्य दिखता है लेकिन लगता है कि लंबे समय से लागू अंतराष्ट्रीय प्रतिबंधों की वजह से बहुत सी परियोजनाएं रुकी पड़ी हैं.

पेट्रोल, डीज़ल इंपोर्ट पर प्रतिबंध का असर भी दिखने लगा है. कुछ पेट्रोल पंप बंद हो गये हैं और बिजली की कमी के चलते लोगों ने अपने घरों में सोलर पैनल लगा रखे हैं. ये इमारत सीमावर्ती शहर केइसोंग में स्थित है.

इमेज कॉपीरइट Nk news

तमाम आर्थिक दिक्कतों के बावजूद हर साल राजधानी में विशाल परेड आयोजित की जाती है. ये तस्वीर इसी परेड से पहले, इंतज़ार करती हुई लड़की की है.

इमेज कॉपीरइट Nk news

विदेशी ख़तरों का माहौल यहां हमेशा मौजूद रहता है. कई जगह अमरीका विरोधी बैनर दिखते हैं, जिन पर देशप्रेम से ओतप्रोत नारे लिखे होते हैं. लेकिन तनाव के बावजूद लोगों के चेहरे पर मुस्कान देखी जा सकती है.

इमेज कॉपीरइट Nk news

उत्तर कोरिया हमेशा कहता रहा है कि वो युद्ध के लिए तैयार है. इस तस्वीर में टैंकों को रोकने वाला ढांचा है, जिसकी नींव में विस्फ़ोटक है, ताकि जब कभी भी देश पर आक्रमण हो तो विस्फ़ोट से ढांचे को ध्वस्त कर आक्रमणकारी टैंकों को रोका जा सके.

(ये सारी तस्वीरें उत्तर कोरिया पर विशेष सामग्री प्रकाशित करने वाले एनके न्यूज़ के सौजन्य हैं. किसी भी अलग-थलग देश के दौरे में खींची गई तस्वीरों के लिए वहां के सरकारी दिशानिर्देशों के अनुसार अनुमति लेनी पड़ती है.)

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

मिलते-जुलते मुद्दे