#MeToo मुहिम के समर्थन में उतरीं मोनिका लेविंस्की

  • 19 अक्तूबर 2017
मोनिका लेविंस्की, बिल क्लिंटन, अफ़ेयर, सोशल मीडिया, यौन उत्पीड़न, #MeToo इमेज कॉपीरइट Getty Images

आपको मोनिका लेविंस्की याद हैं? मोनिका लेविंस्की जो अमरीका के पूर्व राष्ट्रपति बिल क्लिंटन के साथ अफ़ेयर की वजह से चर्चा में आई थीं.

उनके प्रेम-सम्बन्धों की ख़बर बाहर आने के बाद मोनिका को बेहद अपमानपूर्ण और तकलीफ़ दौर से गुजरना पड़ा था.

इमेज कॉपीरइट Getty Images

आज एक बार फिर मोनिका दुनिया के सामने हैं, अपनी बात दुनिया के सामने रखते हुए. वो भी अब यौन उत्पीड़न के खिलाफ़ इंटरनेट की #MeToo मुहिम में शामिल हो गई हैं.

सेक्स स्कैंडल जिससे हिल गया है हॉलीवुड

मोनिका ने #MeToo ट्वीट करके इस मुहिम को अपना समर्थ दिया है. हांलाकि उन्होंने अपने किसी अनुभव के बारे में कोई जिक्र नहीं किया और न ही कोई और डिटेल शेयर की है.

इमेज कॉपीरइट Twitter

मोनिका के साथ अफ़ेयर की बात बाहर आने पर तत्कालीन अमरीकी राष्ट्रपति बिल क्लिंटन को महाभियोग का सामना करना पड़ा था.

लड़कियों के साथ #MeToo पोस्ट पर लड़के क्यों?

उस वक़्त वो वाइट हाउस में बतौर इंटर्न काम कर रही थीं और बिल क्लिंटन के साथ प्यार में पड़ गई थीं. तब वो सिर्फ़ 24 साल की थीं.

इमेज कॉपीरइट Getty Images

उनके बीच सम्बन्धों की की बात साल 1998 में सामने आई थी. जिसके बाद लोगों ने मोनिका को भद्दे मेल भेजे और उन पर 'चरित्रहीन' होने का आरोप लगाया जिससे वो काफ़ी टूट गई थीं.

इस ट्वीट के बाद बहुत से लोगों ने मोनिका का समर्थन और उनकी बहादुरी की तारीफ़ की है.

मैरी एंजेला ने लिखा,''मुझे दुख है कि आपको सालों तक इसका सामना करना पड़ा. ये बहुत पुरानी बात हो गई है और लोग आपको एक आम इंसान की तरह देखते हैं. ग़लतियां हम सब से होती हैं.''

इमेज कॉपीरइट Twitter

दूसरी तरफ़ लोग ये भी जानना चाहते हैं कि वो असल में किस शख़्स और किस अनुभव के बारे में बात कर रही हैं.

#MeToo: 'उसने कहा मैं यौन रूप से आकर्षित हूं'

मौजूदा वक़्त में मोनिका ऑनलाइन उत्पीड़न और साइबर बुलिंग के पीड़ितों के लिए काम करती हैं.

हॉलीवुड के प्रोड्यूसर हार्वी वाइनस्टीन का सेक्स स्कैंडल सामने आने के बाद दुनिया भर में औरतें #MeToo लिखकर सोशल मीडिया पर अपने कड़वे अनुभवों को साझा कर रही हैं.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

बीबीसी न्यूज़ मेकर्स

चर्चा में रहे लोगों से बातचीत पर आधारित साप्ताहिक कार्यक्रम

सुनिए

मिलते-जुलते मुद्दे