एक वरिष्ठ चीनी अधिकारी का दावा, 'रची गई थी शी जिनपिंग को हटाने की साज़िश'

  • 21 अक्तूबर 2017
सुन झेंगकाई (दाहिने) और शिनजिनपिंग इमेज कॉपीरइट Getty Images
Image caption चीनी कम्युनिस्ट पार्टी के पूर्व शीर्ष नेता सुन झेंगकाई (दाहिने) को साजिशकर्ताओं में से एक बताया गया है

चीन के एक वरिष्ठ अधिकारी ने दावा किया है कि कम्युनिस्ट पार्टी में ऊंचे ओहदे पर बैठे कुछ सदस्यों ने राष्ट्रपति शी जिनपिंग के हाथों से सत्ता छीनने की साजिश की थी.

भ्रष्टाचार के ख़िलाफ़ छेड़ी गई शी जिनपिंग की मुहिम के बाद पार्टी के इन सदस्यों को या तो गिरफ़्तार कर लिया गया या जेल में डाल दिया गया.

मामले पर नज़र रखने वाले कुछ जानकारों का कहना है कि इस मुहिम का उद्देश्य शी जिनपिंग के प्रतिद्वंदियों को रास्ते से हटाना था.

लेकिन इस ताज़ा दावे ने कम्युनिस्ट पार्टी की छवि पर सवाल पैदा कर दिए हैं और पार्टी में सत्ता को लेकर चल रहे संघर्ष को दुनिया के सामने रख दिया है.

चीन को टक्कर देने भारत के क़रीब आया अमरीका?

चीन की तरक्की की क़ीमत चुका रहे हैं वहां के लोग?

इमेज कॉपीरइट Getty Images
Image caption झाऊ योंगकांग 2014 तक चीन के रक्षा प्रमुख थे

तख़्तापलट की साजिश?

गुरुवार को चीन के सिक्योरिटीज़ कमिशन्स के प्रमुख लियु शीयू ने पार्टी के छह 'वरिष्ठ सदस्यों' के नाम ज़ाहिर किए जिन्हें उन्होंने "अत्यधिक लालची और बेहद भ्रष्ट" कहा और कहा कि "इन लोगों ने पार्टी के शीर्ष नेतृत्व को ख़त्म करने की कोशिश की और तख़्तापलट करने की साज़िश की."

लियु की लिस्ट में कई बड़े नाम शामिल हैं जिनका नाम सामने आने के बाद सख्ती से इस मामले की जांच शुरू कर दी गई. इन नामों में पूर्व सुरक्षा प्रमुख चाझाऊ , जाने-माने नेता बो शीलाई और पोलित ब्यूरो के सदस्य सन ज़ेंगचाई शामिल हैं.

सन ज़ेंगचाई को हाल में पार्टी ने निष्कासित किया गया था.

लिस्ट में अन्य नाम हैं राष्ट्रपति के पूर्व सहयोगी लिंग ज़ीहुआ, दिवंगत जनरल शू त्साइहो और एक अन्य पूर्व सैन्य अधिकारी गुओ बॉशीयुंग.

शी जिनपिंगः एक खेतिहर कैसे पहुंचा चीन की सत्ता के शिखर पर?

चीन में जो बातें आप नहीं कह सकते!

इमेज कॉपीरइट EPA/ROMAN PILIPEY

10 लाख अधिकारियों पर कार्रवाई

बीजिंग में चल रहे कम्युनिस्ट पार्टी के सम्मेलन में लियु ने कहा, "ये मामले बेहद चौंकाने वाले हैं."

अब तक ये सपष्ट नहीं हो पाया है कि वो सज़ा की बात कर रहे थे या तख़्तापलट की अलग-अलग घटनाओं का ज़िक्र कर रहे थे.

लियु ने कहा कि शी जिनपिंग ने "इन समस्याओं को सुलझा लिया है और पार्टी और देश के लिए एक बड़े ख़तरे को ख़त्म कर दिया है."

शी जिनपिंग ने साल 2012 में सत्ता संभाली थी जिसके बाद से शुरू हुई इस मुहिम में अब तक 10 लाख अधिकारियों को या जेल भेजा जा चुका है या भ्रष्टाचार के आरोप में गिरफ्तार किया जा चुका है.

जिनपिंग के 3 घंटे लंबे भाषण के क्या हैं मायने?

चीन कैसे चुनता है अपना राष्ट्रपति?

इमेज कॉपीरइट Lintao Zhang/Getty Images

सत्ता संघर्ष

इस मुहिम के बारे में कई लोगों को लगा कि कई गिरफ्तारियां राजनीति से प्रेरित थीं और शी जिनपिंग की पूरी ताकत हथियाने की रणनीति का हिस्सा थीं.

इससे पहले शी जिनपिंग ने पार्टी के भीतर "सत्ता को लेकर संघर्ष" की ख़बरों से इनकार किया था.

कांग्रेस का कार्यकाल इस सप्ताह ख़त्म होने वाला है जिसके बाद पार्टी में नए सदस्य शामिल हो सकते हैं. इस सिलसिले में हर पांच साल में पार्टी का सम्मेलन आयोजित किया जाता है.

शी जिनपिंग के आगे भी पार्टी प्रमुख बने रहने की संभावना जताई जा रही है.

इमेज कॉपीरइट CHINA PHOTOS
Image caption बो शिलाई पर एक ब्रितानी बिजनेसमैन की हत्या की साजिश रचने का भी आरोप है

चीन की सरकारी मीडिया का कहना है कि पार्टी अपने संविधान को फिर से लिख सकती है, ताकि जिनपिंग की वर्क रिपोर्ट और राजनीतिक विचारों को इसमें शामिल किया जा सके.

ऐसा करने से जिनपिंग का क़द पार्टी में और बढ़ जाएगा.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

बीबीसी न्यूज़ मेकर्स

चर्चा में रहे लोगों से बातचीत पर आधारित साप्ताहिक कार्यक्रम

सुनिए

मिलते-जुलते मुद्दे