चीन के बारे में वो बातें जो शायद ना पता हों!

  • 25 अक्तूबर 2017
चीन इमेज कॉपीरइट Getty Images

चीन की कमान एक बार फिर से शी जिनपिंग के पास आ गई है. शी जिनपिंग का नाम दुनिया के ताक़तवर नेताओं में शुमार हो रहा है. अपने देश में भी जिनपिंग का कद कम्युनिस्ट पार्टी के पहले नेता माओत्से तुंग के बराबर हो गया है.

इन सारी चर्चाओं के बीच हम आपको चीन के बारे में वो 13 बातें बता रहे हैं, जो शायद आपको भी ना पता हों.

  • अमरीका ने सौ सालों में जितना सीमेंट का इस्तेमाल किया है, उससे ज़्यादा चीन ने सिर्फ़ तीन साल 2011 से 2013 के बीच किया. चीन ने इन तीन सालों में 6,615 मिलियन टन सीमेंट का इस्तेमाल किया.
  • 2000 ईसा पूर्व के आसपास आईस्क्रीम की खोज सबसे पहले चीन में हुई थी. पहली आईस्क्रीम दूध और चावल को मिलाकर बनाई गई थी.
  • इतना विशाल भूभाग होने के बावजूद चीन एक ही टाइम ज़ोन में है.
  • चीन में बढ़ते वायु प्रदुषण के कारण वहां शुद्ध हवा का कैन बेचा जाता है. शुद्ध हवा पांच युआन प्रति कैन बेचा जाता है. हवा की एक किस्म है 'तिब्बत की असली हवा', दूसरा किस्म है क्रांतिकारी याहयान और तीसरी है पोस्ट-इंडस्ट्रियल ताइवान.
इमेज कॉपीरइट Getty Images
  • केचप भी मूल रूप से चीन का है और इसी तरह मसालेदार मछली सॉस भी यहीं का है.
  • फुटबॉल खेल लिए भी चीन को ही श्रेय दिया जाता है. फ़ीफ़ा के आठवें अध्यक्ष सेप बल्टर ने भी फुटबॉल के लिए चीन को ही श्रेय दिया था. ऐसा कहा जाता है कि चीन में फुटबॉल की खोज दूसरी और तीसरी शताब्दी में हुई थी.
  • चीन आधिकारिक रूप से नास्तिक देश है, लेकिन यहां इटली से ज़्यादा ईसाई धर्मावलंबी हैं. चीन में ईसाई धर्म को मानने वाले क़रीब 5.4 करोड़ लोग हैं जबकि इटली में 4.7 करोड़ लोग हैं. ऐसा कहा जा रहा है कि चीन जल्दी ही दुनिया का सबसे बड़ा ईसाई देश बन सकता है.
  • चीनी लोग कुत्ते का भी मांस खाते हैं, लेकिन इधर के सालों में इसमें कमी आई है. अब लोग कुत्ते और बिल्ली को पालतू बनाकर रख रहे हैं. हलांकि सांप अब भी लोगों की पसंद है.
इमेज कॉपीरइट Getty Images
  • चीन में हर दिन औसत 17 लाख सूअर की खपत होती है. चीन में सूअर का मांस लोग सबसे ज़्यादा पसंद करते हैं. हालांकि कम आय वालों के लिए सूअर का मांस मिलना आसान नहीं है.
  • हॉन्ग कॉन्ग के चीनी एक एक दिन छुट्टी लेकर अपने पूवर्जो की क़ब्र की सफ़ाई करने जाते हैं.
  • पारंपरिक रूप से चीन की महिलाएं लाल रंग के लिबास में शादी करती हैं. लाल रंग को चीन में लकी कलर माना जाता है जबकि सफ़ेद को मौत के प्रतीक के रूप में देखा जाता है.
इमेज कॉपीरइट Getty Images
  • दुनिया का हर पांचवा शख्स चीनी है.
  • 1978 में चीन कम्युनिस्ट पार्टी ने पूंजीवादी बाज़ार सिद्धांत को पेश किया था. जब 1980 के दशक में चीन ने अपना बाज़ार खोला तो वो दुनिया का सबसे बड़ा मैन्युफैक्चरर बन गया. चीन की अर्थव्यवस्था पिछले तीन दशकों से औसत 10 फ़ीसदी की दर से बढ़ रही है. ऐसा 2010 तक रहा है.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए यहां क्लिक करें. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर भी फ़ॉलो कर सकते हैं.)

बीबीसी न्यूज़ मेकर्स

चर्चा में रहे लोगों से बातचीत पर आधारित साप्ताहिक कार्यक्रम

सुनिए