यौन दुर्व्यवहार के आरोपों पर ब्रितानी रक्षामंत्री का इस्तीफ़ा

  • 2 नवंबर 2017
इमेज कॉपीरइट Reuters

यौन दुर्व्यवहार के आरोपों के बीच ब्रिटेन के रक्षा मंत्री सर माइकल फ़ैलन ने इस्तीफ़ा दे दिया है.

उन्होंने कहा है कि ब्रितानी सेना के मानदंडों के मुताबिक हो सकता है कि उनका व्यवहार 'ख़रा नहीं' उतरा हो.

उन्होंने बीबीसी को बताया कि 10 या 15 साल पहले जो चीज स्वीकार्य थी, अब साफ़ तौर पर वो स्वीकार्य नहीं है.

हाल में संसद में गंभीर यौन दुर्व्यवहारों के आरोपों के बाद वो पहले नेता हैं जिन्होंने इस्तीफ़ा दिया है.

जॉर्ज बुश सीनियर ने यौन उत्पीड़न आरोप के बाद माफ़ी मांगी

एंजेलीना जोली ने वाइनस्टीन पर यौन उत्पीड़न के आरोप लगाए

उनके व्यवहार के बारे में ये ताज़ा दावे बुधवार को किए गए, लेकिन इस पर प्रधानमंत्री कार्यालय की ओर से कोई बयान नहीं दिया गया है.

टेरीज़ा मे ने कैबिनेट में अपनी भूमिका को गंभीरता से लेने पर सर फ़ैलन की तारीफ़ की है.

अपने त्यागपत्र में फ़ैलन ने लिखा है, "हाल के दिनों में जनप्रतिनिधियों पर कई सारे आरोप सामने आए हैं. इनमें से कुछ आरोप मेरे अतीत के व्यवहार के बारे में हैं."

उनके अनुसार, "इनमें से अधिकांश ग़लत हैं लेकिन मैं स्वीकार करता हूं कि अतीत में मेरा व्यवहार ऐसा रहा है, जो सेना की अगुवाई करने के लिए ज़रूरी मानकों के अनुरूप नहीं है."

Image caption त्यागपत्र

उन्होंने बीबीसी से अपने इस्तीफ़े के फैसले को सही बताया, "इन सालों में संस्कृति काफ़ी बदल गई है. 10 या 15 साल पहले जो स्वीकार्य हो सकता था, अब बिल्कुल भी स्वीकार्य नहीं है."

उन्होंने कहा, "अब संसद को आत्ममंथन करने की ज़रूरत है और प्रधानमंत्री ने साफ़ भी किया है कि व्यवहार में सुधार की ज़रूरत है और हमें किसी भी तरह के उत्पीड़न के आरोपों के ख़िलाफ़ वेस्टमिंस्टर के कर्मचारियों को बचाने की ज़रूरत है."

जब उनसे ये पूछा गया कि क्या आपको माफ़ी मांगनी चाहिए, उन्होंने कहा, "मुझे लगता है कि हम सभी को अब अतीत पर एक नज़र दौड़ा लेनी चाहिए, कुछ न कुछ ऐसा ज़रूर मिलेगा जिसके लिए आपको अफ़सोस करना पड़े, जिसे शायद आपने अलग तरीक़े से किया होता."

उन्होंने कहा कि साढ़े तीन साल तक रक्षा मंत्री पद संभालना उनके लिए 'सौभाग्य' की बात रही है.

प्रधानमंत्री टेरीज़ा मे ने उनका इस्तीफ़ा स्वीकार कर लिया है और उनके कार्यकाल की तारीफ़ की है.

कौन हैं सर मिख़ाइल फ़ैलन

इमेज कॉपीरइट PA
Image caption डार्लिंगटन में 1983 में हुए उपचुनाव के दौरान की तस्वीर

सर माइकल फ़ैलन पिछले चार दशक से लगातार सांसद रहे हैं. मार्च 1983 में, वो लेबर पार्टी के एक उम्मीदवार से हार गए थे लेकिन इसी दौरान मार्गारेट थैचर ने आम चुनावों की घोषणा की तो वो 77 दिन बाद ही चुनाव जीत गए.

साल 1992 में उनका राजनीतिक करियर थोड़ा रुका, जब वो आम चुनावों में डार्लिंगटन की सीट लेबर पार्टी के उम्मीदवार से हार गए.

इसके बाद 1997 में कंज़र्वेटिव उम्मीदवार के रूप में वेस्टमिंस्टर से चुनाव लड़ा. गठबंधन सरकार के दौर में उन्हें मंत्री बनाया गया था.

डेविड कैमरन के कार्यकाल में 2014 में वो मंत्री रहे. इसी दौरान उन्होंने रक्षामंत्री का पदभार संभाला था.

दिल्ली: बच्चों के यौन उत्पीड़न मामले में ब्रितानी नागरिक गिरफ़्तार

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

बीबीसी न्यूज़ मेकर्स

चर्चा में रहे लोगों से बातचीत पर आधारित साप्ताहिक कार्यक्रम

सुनिए

मिलते-जुलते मुद्दे