कांगो गणराज्य: हमले में 14 शांतिरक्षकों की मौत

  • 8 दिसंबर 2017
इमेज कॉपीरइट REUTERS/Kenny Katombe
Image caption [फाइल फ़ोटो]

अफ्रीकी देश कांगो गणराज्य में हुए एक हमले में संयुक्त राष्ट्र के कम से कम 14 शांतिरक्षक मारे गए हैं और 53 घायल हुए हैं.

संयुक्त राष्ट्र मोनुस्कू शांति मिशन के मुताबिक़, नॉर्थ किवू प्रांत में एलाइड डेमोक्रेटिक फोर्सेस (एडीएफ) के संदिग्ध विद्रोहियों ने शांतिरक्षकों पर हमला किया है.

मृतकों में कांगो गणराज्य सशस्त्र बल के पांच सैनिक भी शामिल हैं.

संयुक्त राष्ट्र महासचिव एंटोनियो गुटरेश ने शांतिरक्षकों पर हुए इस हमले को बीते कुछ वर्षों में सबसे बड़ा हमला बताया है.

मारे गए शांतिरक्षक तंज़ानिया के हैं जिनके परिवार के प्रति संयुक्त राष्ट्र महासचिव ने संवेदना जताई है.

नज़र खनिज पदार्थों के भंडार पर

इमेज कॉपीरइट Junior D. Kannah/AFP/Getty Images

कांगो गणराज्य में मोनुस्कू शांति मिशन के तहत लगभग 18,000 शांतिरक्षक काम कर रहे हैं.

नॉर्थ किवू प्रांत में खनिज पदार्थों का बड़ा भंडार है जिस पर नियंण के लिए कई हथियारबंद लड़ाके लगातार कोशिश कर रहे हैं. कांगो के सुरक्षाबलों और संयुक्त राष्ट्र शांतिरक्षकों के साथ कई बार उनकी झड़पें हुई हैं.

कांगो गणराज्य में राहत कार्य कर रही संस्थाओं ने इसी सप्ताह कहा था कि संघर्ष के कारण 17 लाख लोगों को अपना घर छोड़कर पलायन करना पड़ा है.

इमेज कॉपीरइट REUTERS/Lucas Jackson
Image caption संयुक्त राष्ट्र महासचिव एंटोनियो गुटरेश

कांगो गणराज्य में रिफ्यूजी काउंसिल के उलरिका ब्लॉम स्थिति को 'चिंताजनक संकट' बताते हैं.

वो कहते हैं, "संघर्ष के कारण यहां से इतने लोग घरबार छोड़कर भाग रहे हैं कि यह आंकड़ा सीरिया, यमन और इराक़ से भाग रहे लोगों की संख्या से अधिक है."

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

बीबीसी न्यूज़ मेकर्स

चर्चा में रहे लोगों से बातचीत पर आधारित साप्ताहिक कार्यक्रम

सुनिए

मिलते-जुलते मुद्दे