कंप्यूटर से पॉर्न वीडियो मिला, छिनी ब्रितानी डिप्टी पीएम की कुर्सी

  • 21 दिसंबर 2017
इमेज कॉपीरइट PA
Image caption 61 वर्षीय डेमियन ग्रीन ब्रितानी प्रधानमंत्री टेरीज़ा मे के सबसे क़रीबी मंत्री थे.

ब्रितानी प्रधानमंत्री टेरीज़ा मे के सबसे क़रीबी मंत्रियों में से एक डेमियन ग्रीन को पद से हटा दिया गया है.

एक जांच में पता चला है कि उन्होंने मंत्रालय के नियमों का उल्लंघन किया है.

जांच में पता चला है कि डेमियन ग्रीन ने साल 2008 में अपने दफ़्तर के कंप्यूटर में मिले पॉर्न वीडियो के बारे में ग़लत और भ्रामक बयान दिए थे.

उन्होंने लेखिका केट माल्टबी को साल 2015 में अहसज महसूस करवाने के लिए भी माफ़ी मांग ली है.

बीबीसी की राजनीतिक संपादक लॉरा क्वेंसबर्ग का कहना है कि प्रधानमंत्री मे के पास ग्रीन को पद से हटाने के अलावा और कोई विकल्प नहीं था.

61 वर्षीय ग्रीन उप प्रधानंत्री की भूमिका में थे. वो दो महीनों के अंतराल में पद छोड़ने वाले तीसरे ब्रितानी मंत्री बन गए है.

इससे पहले माइकल फैलॉन और प्रीति पटेल को नवंबर में पद छोड़ना पड़ा था.

इमेज कॉपीरइट ELIZABETH HANDY
Image caption जांच रिपोर्ट में पत्रकार केट माल्टबी के आरोपों को भी भरोसे लायक माना गया है.

बीबीसी की राजनीतिक संपादक के मुताबिक ग्रीन के मंत्रीमंडल से जाने के बाद प्रधानमंत्री टेरीज़ा मे अब और अकेली पड़ गई हैं.

अकेली पड़ीं टेरिज़ा?

अपने लिखित बयान में ग्रीन के पद से हटने पर गहरा अफ़सोस जताते हुए टेरीज़ा मे ने कहा है कि मंत्री से जो उम्मीद की जाती है ग्रीन के कृत्य उस पर खरे नहीं उतर पाए.

एक महिला पत्रकार से दुर्व्यवहार के मामले में भी उन पर जांच चल रही थी.

हालांकि उन्होंने ख़ुद पर लगे आरोपों को खारिज किया था.

साल 2008 में उनके दफ़्तर के कंप्यूटर से पॉर्न वीडियो मिले थे. हालांकि उन्होंने वीडियो डाउनलोड करने या देखने से इनकार किया था.

कैबिनेट ऑफ़िस की एक अधिकारिक जांच में कहा गया है कि ग्रीन ने अपने कंप्यूटर से पॉर्न वीडियो मिलने के बारे में जो दो बयान दिए थे वो भ्रामक और ग़लत थे और मिनीस्ट्रियल कोड का उल्लंघन थे.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

बीबीसी न्यूज़ मेकर्स

चर्चा में रहे लोगों से बातचीत पर आधारित साप्ताहिक कार्यक्रम

सुनिए

मिलते-जुलते मुद्दे