आख़िर ये लड़कियां 'ना' क्यों नहीं कह पाती हैं?

  • 24 दिसंबर 2017
मलेशिया इमेज कॉपीरइट ACEBOOK/IVANAVANABANANAXOX
Image caption इवाना मलेशिया में मॉडलिंग करना पसंद करती थीं

मलेशिया की राजधानी कुआलालंपुर में इस महीने की शुरुआत में एक युवती मृत मिली थी. युवती का शव एक ऊंची इमारत के छठे तल की बालकोनी से बरामद हुआ था.

18 साल की इवाना स्मित डच थीं और वो कुछ सालों से एक मॉडल के तौर पर काम कर रही थीं. इवाना की मौत किन परिस्थितियों में हुई यह अब भी रहस्य बना हुआ है.

यह कहानी ख़ूबसूरती और मौत के साथ साथ सेक्स, ड्रग्स और शराब के कॉकटेल के असर को भी दिखाती है. इस मौत के बाद मॉडलिंग की दुनिया में जोख़िमों से जुड़े कई सवाल खड़े हो रहे हैं.

स्मित इमारत के 20वें तले की बालकनी से नीचे गिरी थीं. कहा जा रहा है कि वो एक पार्टी के बाद अपार्टमेंट पहुंची थीं.

स्मित के माता-पिता ने पुलिस से कहा है कि वहां कोई संदिग्ध अपराध जैसा मामला नहीं है. हालांकि इस मामले की जांच अब भी जारी है. डच विदेश मंत्रालय ने बीबीसी से कहा है कि इंटरपोल इस मामले को लेकर संपर्क में है.

स्मित का परिवार इस हफ़्ते पूरे मामले की स्वतंत्र जांच के लिए चंदा जुटा रहा था.

इस मौत के बाद से मॉडलिंग इंडस्ट्री की त्रासदियों से पर्दा हटा है और साथ ही कई सवाल भी उठ रहे हैं. स्मित की साथी मॉडल एमित्सा शज़ ने बीबीसी से कहा, ''यह कोई पहला वाक़या नहीं है. ऐसा पहले भी हो चुका है. ऐसा लगता है कि ऐसा किसी के भी साथ हो सकता है.''

फैशन की चकाचौंध के पीछे स्याह सच्चाई

'मानुषी ने कहा था, मिस वर्ल्ड बनकर आऊंगी'

'ग़ैर इस्लामी' मॉडलिंग के आरोप में 8 गिरफ़्तार

इमेज कॉपीरइट FACEBOOK/IVANAVANABANANAXOX

इवाना स्मित ने जीवन का बड़ा हिस्सा मलेशिया में गुज़ारा है. वो अपने दादा-दादी के साथ मलेशियाई राज्य पेनांग में पली-बढ़ी थीं. 13 साल की उम्र में स्मित ने मॉडलिंग शुरू कर दी थी.

कुछ साल नीदरलैंड्स में अपने माता-पिता के साथ रहने के बाद स्मित मलेशिया आ गई थीं और पिछले महीने ही वो कुआलालंपुर में शिफ़्ट हुई थीं. इवाना स्वंतत्र रूप से काम कर रही थीं. वो किसी एजेंसी के लिए काम नहीं कर रही थीं.

पेनांग में इवाना की बचपन की दोस्त नताली वूडवर्थ ने कहा कि इवाना के पास यहां अच्छे मौक़े थे. उन्होंने कहा, ''मुझे आज भी याद है जो उसने मुझसे कहा था. उसने कहा था- 'मैं वहां हूं जहां मुझे रहना चाहिए था.' वो मलेशिया लौटकर बहुत ख़ुश थी.''

इवाना की मौत की वजहें साफ़ नहीं हैं. कहा जा रहा है कि इवाना एक अधेड़ कपल के साथ अपार्टमेंट पहुंची थीं. इमारत की बालकनी से वो तड़के गिरी थीं. इवाना का शव इमारत के छठे तले की बालकनी में दोपहर बाद बरामद हुआ था. मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक इवाना के ख़ून में शराब और ड्रग्स पाए गए थे.

इवाना के परिवार वाले मलेशिया पहुंच गए हैं. उन्होंने डच मीडिया से कहा कि इवाना की गर्दन पर कटे के निशान हैं. स्थानीय मीडिया की रिपोर्टों के अनुसार अपार्टमेंट में एक विदेश कपल पर ड्रग्स अपराध में मुक़दमा दर्ज़ किया गया है.

इमेज कॉपीरइट iStock

इन्होंने पुलिस से कहा है कि इवाना जब बालकनी से गिरीं तो वे सो रहे थे और बाद में वे अपने बच्चों को स्कूल के लाने के लिए चले गए थे. उन्होंने कहा कि इवाना की मौत के बारे में उन्हें कुछ भी पता नहीं है.

इस मौत के बाद मॉडलिंग इंडस्ट्री पर कई तरह के सवाल उठ रहे हैं. इवाना के समर्थन में लोग हैशटैग #truthforivana से ट्वीट भी कर रहे हैं.

दबाव, ड्रग्स और शराब

मॉडलिंग इंडस्ट्री में कई सालों तक काम कर चुकीं 28 साल की शज़ कहती हैं कि यह चिंता केवल मॉडलिंग को लेकर नहीं है. उन्होंने कहा कि मॉडलिंग से कई नौकरियां जुड़ी हुई हैं.

स्मित के मामले में साफ़ नहीं है कि हुआ क्या था. मॉडलिंग में अच्छी रक़म मिलती है. मिसाल के तौर पर एक पार्टी गर्ल के लिए ही अच्छे पैसे मिल जाते हैं. पार्टी में लोगों को इंटरटेन करने के लिए पांच घंटों में 1200 डॉलर की कमाई हो जाती है.

कुआलालंपुर में मॉडलिंग इंडस्ट्री में काम कर चुके और इसे लेकर एक एजेंसी चलाने वाले कार्ल ग्राहम का कहना है कि इन मौतों में ड्रग्स और शराब की बड़ी भूमिका होती है.

उन्होंने कहा, ''युवावस्था से ही ज़्यादातर मॉडल अपने परिवार वालों से दूर रहते हैं. इनमें एक किस्म की असुरक्षा की भावना रहती है. ये पार्टी, शराब और ड्रग्स की चपेट में आते जाते हैं.''

मॉडलिंग के पेशे में जो लड़कियां होती हैं उनकी उम्र काफ़ी कम होती है इसलिए उनमें जीवन के अनुभव ना के बराबर होते हैं. वे जिस चमकती दुनिया में रहती हैं उसके साथ क़दमताल मिलाकर चलने के लिए काफ़ी संघर्ष करती हैं.

ग्राहम कहते हैं, ''इन्हें ना कहना सीखने की ज़रूरत है. इन्हें ये भी समझना चाहिए कि पैसे लेकर पार्टी में जाना मॉडलिंग नहीं है. यह एस्कॉर्टिंग का ही हिस्सा है. सामान्य तौर पर मॉडल्स को एजेंसियों से पर्याप्त सुरक्षा और समर्थन नहीं मिलते हैं. इन लड़कियों को दुनिया भर में बार और क्लब का हिस्सा बनाया जाता है.''

इमेज कॉपीरइट AFP

ग्राहम का कहना है कि मलेशिया में मॉडल्स को लेकर नकारात्मक रवैया और स्टीरियोटाइप छवि है. लोग सोचते हैं कि इनकी जीवनशैली पूरी तरह से भोगवादी है जहां शराब, ड्रग्स और पार्टी का सिलसिला कभी ख़त्म नहीं होता है. ऐसी छवि से इन नई लड़कियों को काफ़ी नुक़सान उठाना पड़ता है.

ग्राहम का कहना है कि इन लड़कियों ना कहना सीखना होगा और ऐसा करके भी वो अपना काम कर सकती हैं.

मॉडल्स को सतर्क रहने की चेतावनी

कुआलालंपुर में मॉडल एजेंसियों ने बीबीसी से कहा कि वे अपने साथ काम करने वाली मॉडलों का पूरा ख़्याल रखती हैं. कुआलालंपुर में एक एजेंसी के मॉडल निकोलस चान ने कहा कि यहां एक साथ कई चीज़ें होती हैं.

शराब, पार्टी और ड्रग्स भी. उन्होंने कहा कि एजेंसी के तौर पर मॉडलों को चेताया जाता है कि वो इन सब चीज़ों से सतर्क रहें.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

बीबीसी न्यूज़ मेकर्स

चर्चा में रहे लोगों से बातचीत पर आधारित साप्ताहिक कार्यक्रम

सुनिए

मिलते-जुलते मुद्दे