इस अंदाज़ में मिले कुलभूषण जाधव अपनी मां और पत्नी से

  • 25 दिसंबर 2017
कुलभूषण जाधव की मां और पत्नी इमेज कॉपीरइट Pakistan Foreign Office

पाकिस्तान में जासूसी के आरोप में फांसी की सज़ा पाने वाले भारतीय नागरिक कुलभूषण जाधव सोमवार को इस्लामाबाद में अपने घरवालों से मिले.

उनकी मां और उनकी पत्नी को उनसे बात करने का मौका मिला है. पाकिस्तानी विदेश मंत्रालय ने इस मुलाकात की तस्वीरें जारी की हैं.

मौक़े पर मौजूद बीबीसी संवाददाता शुमाइला जाफ़री ने बताया कि काफ़ी गंभीर दिख रहीं जाधव की मां और पत्नी ने मीडिया से कोई बात नहीं की. दोनों महिलाएं सिर्फ़ 'नमस्ते' बोलकर इमारत के अंदर चली गईं.

इमेज कॉपीरइट Pakistan Foreign Office

कुलभूषण जाधव की मां और पत्नी सोमवार को इस्लामाबाद पहुंचीं. पाकिस्तान के विदेश मंत्रालय ने बताया कि मुलाक़ात के बाद कुलभूषण की मां और पत्नी सोमवार को ही भारत वापस लौट जाएंगे.

इमेज कॉपीरइट Pakistan Foreign Office

इस मुलाक़ात में इस्लामाबाद में भारत के उप उच्चायुक्त जेपी सिंह उनके साथ रहेंगे.

पाकिस्तान के विदेश विभाग के प्रवक्ता मोहम्मद फ़ैसल ने शनिवार रात इस बारे में ट्विटर पर जानकारी दी.

इमेज कॉपीरइट Farhan/BBC

मीडिया रिपोर्ट्स में ये कहा गया था कि जाधव की उनके घरवालों से मुलाक़ात के कार्यक्रम के बारे में पाकिस्तान ने भारत से जानकारी मांगी थी.

इस्लामाबाद में साप्ताहिक ब्रीफिंग के दौरान प्रवक्ता मोहम्मद फ़ैसल ने कहा कि कुलभूषण जाधव के परिजनों को इस्लामाबाद के लिए वीज़ा जारी कर दिया गया है.

'कुलभूषण जाधव को राजनयिक पहुँच नहीं देंगे'

वो वकील जिसकी हार से जाधव को मिला जीवनदान

कुलभूषण जाधव: 'बेकार जाएगा भारत का अंतरराष्ट्रीय कोर्ट जाना'

इमेज कॉपीरइट @ForeignOfficePk
Image caption पाकिस्तान के विदेश मंत्रालय में इंतज़ार करतीं कुलभूषण जाधव की मां और पत्नी

कब पकड़े गए थे कुलभूषण जाधव?

3 मार्च 2016 को पाकिस्तानी ख़ुफ़िया एजेंसी ने जाधव को अवैध तरीके से घुसने और जासूसी के आरोप में गिरफ़्तार किया था.

पाकिस्तान की सैन्य अदालत ने जासूसी और चरमपंथ मामले में इसी साल अप्रैल में जाधव को फांसी की सज़ा सुनाई थी.

प्लेबैक आपके उपकरण पर नहीं हो पा रहा
मां और पत्नी से मुलाक़ात के बाद क्या बोले कुलभूषण?

लेकिन मई में इंटरनेशनल कोर्ट ऑफ़ जस्टिस ने भारत की अपील पर इस सज़ा पर रोक लगा दी थी.

पाकिस्तानी अख़बारों में इस बात को लेकर कयास लगाए जा रहे थे कि आख़िर किस बात से इस्लामाबाद जाधव को उनके घरवालों से मिलवाने के लिए राज़ी हुआ.

अंतरराष्ट्रीय अदालत ने जाधव की मौत की सज़ा पर रोक लगाई

पत्नी को मिली कुलभूषण जाधव से मिलने की इजाज़त

इमेज कॉपीरइट Getty Images

कैसे राज़ी हुआ पाकिस्तान?

कुछ रिपोर्टों के मुताबिक़ दोनों देशों के बीच हुई एक मीटिंग में विदेश मंत्री सुषमा स्वराज ने भारत में पाकिस्तान के नए उच्चायुक्त सोहैल महमूद के साथ इस मुद्दे को उठाया था.

पाकिस्तान कुलभूषण को कॉन्सुलर एक्सेस दिए जाने की भारत की अपील को बार-बार ख़ारिज करता रहा है.

जाधव ने पाकिस्तान के सैन्य प्रमुख जनरल क़मर जावेद बाजवा के सामने क्षमादान की अपील की है, जो अब भी लंबित है.

अक्टूबर में पाकिस्तानी सेना ने कहा था कि वो जाधव की याचिका पर फ़ैसला लेने के क़रीब है.

हरीश साल्वे- वो वकील जिसने कुलभूषण का मृत्युदंड रुकवाया

'हबीब' को बचाने के लिए 'कुलभूषण' को सज़ा-ए-मौत!

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

बीबीसी न्यूज़ मेकर्स

चर्चा में रहे लोगों से बातचीत पर आधारित साप्ताहिक कार्यक्रम

सुनिए

मिलते-जुलते मुद्दे