'जवान रईस प्लेबॉय' कैसे बना कुख्यात हत्यारा?

  • 26 दिसंबर 2017
मिलार्ड केस का स्कैच इमेज कॉपीरइट CANADIAN PRESS

कानों के पीछे दिखती बालों की छोटी चोटी. आंखों पर चश्मा और बदन पर शानदार जैकेट. पहली नज़र में वो किसी टेक्नॉलजी कंपनी का एक्ज़ीक्यूटिव नज़र आता है.

डेलन मिलार्ड कनाडा के सबसे कुख्यात हत्यारों में से एक है. लेकिन इस रोज़ वो कोर्ट में लगभग हीरो से अंदाज़ में सिर्फ़ अभियुक्त नहीं बल्कि अपने वक़ील के तौर पर हाज़िर हुआ था.

कठघरे के सामने खड़े होकर डेलन गहरी सांस लेता है. कठघरे में खड़े व्यक्ति क्लेटोन बैबकोक की बेटी लॉरा साल 2012 से ग़ायब हैं. ज़ाहिर है कि लॉरा के ग़ायब होने का शक डेलन पर है और यही शख्स अब वक़ील बनकर अपनी पूर्व प्रेमिका के बाप से सवाल पूछने वाला है.

वो लॉरा के पिता से पूछता है, 'क्या आप बेचैन हैं? ये आपके लिए आसान नहीं होगा. तब जबकि आपकी बेटी के ग़ायब होने के मामले में मैं अभियुक्त हूं. क्या ये आपके लिए तकलीफ़दायक बात है?'

कठघरे में खड़ा वो बूढ़ा आदमी जवाब देता है- नहीं.

इमेज कॉपीरइट ThE CANADIAN PRESS
Image caption लॉरा के पिता

'क़ातिल' ही करेगा पूछताछ

अगले छह हफ़्तों में ज्यूरी इस बात पर पैनी निगाह रखेगी कि डेलन मिलार्ड अपनी पूर्व प्रेमिका के दोस्तों और रिश्तेदारों से कैसे पूछताछ कर रहे हैं?

पोडियम होने की वजह से ज्यूरी की निगाहें जहां तक नहीं पहुंच पाएंगी, वो हैं बेड़ियों से बंधे पैर.

2016 में डेलन मिलार्ड और अन्य अभियुक्तों पर लॉरा की हत्या का आरोप लगा. एक अभियुक्त मार्क स्मिच को टिम बोस्मा नाम के शख्स के फर्स्ट डिग्री मर्डर के मामले में उम्रक़ैद की सज़ा सुनाई गई.

वक़्त बीतता है. अगस्त 2017 में लॉरी के मर्डर की कोर्ट में सुनवाई होती है. अभियोजन पक्ष अब तक ये मान रहा था कि जैसे टिम बोस्मा के केस में मिलार्ड और मार्क ने गोली मारकर और सिर्फ़ जलाने के लिए ज़मीन ख़रीदी थी, ठीक वैसा ही कुछ इस मामले में भी हुआ होगा. टिम बोस्मा की लाश कभी नहीं मिली.

फ़र्स्ट डिग्री मर्डर केस में दूसरी बार दोषी

बीते शनिवार स्मिच और मिलार्ड फर्स्ट डिग्री मर्डर केस में दूसरी बार दोषी ठहराए गए हैं. फर्स्ट डिग्री मर्डर यानी इरादतन हत्या.

डेलन मिलार्ड के कई चेहरे हैं. अमीर घर में पैदा हुए मिलार्ड टोरंटो में पले-बढ़े और अपने पिता की एयरलाइन कंपनी मिलार्डएयर को भी संभाला. मिलार्ड की रईसी का अंदाज़ा आप इस बात से लगाइए कि इस एयरलाइन कंपनी की शुरुआत उनके दादा ने 1960 में की थी.

पहली नज़र में मिलार्ड बेहद साधारण लड़का नज़र आता है, जिसको मस्ती पसंद है और उसे अपने बालों को गुलाबी करने से कोई गुरेज़ नहीं. मिलार्ड की कलाई में एक टैटू है- जिसमें इंग्लिश का शब्द 'एंबीशन' गुदा हुआ है.

मिलार्ड अपने आलीशन बंगले में पूल पार्टियां करवाना पसंद करता था. जहां उसके दोस्त आकर वीडियो गेम खेलें और पीछे लग्ज़री कारों का एक कलेक्शन नज़र आए.

इमेज कॉपीरइट CANADIAN PRESS

प्लेबॉय से अंडरवर्ल्ड

बाहर से मिलार्ड भले ही रईस प्लेबॉय लड़का नज़र आता हो. लेकिन धीरे-धीरे वो अंडरवर्ल्ड की तरफ़ बढ़ रहा था.

इस केस में हुई गवाही के दौरान मिलार्ड के बारे में ड्रग्स बेचने और कार चुराने जैसी बातों के बारे में भी पता चला.

साल 2012 में जब मिलार्ड के पिता की मौत हुई थी, वजह आत्महत्या बताई गई. इस मौत से मिलार्ड के पास अरबों रुपए की दौलत आ गई.

पिता की मौत के दो हफ़्ते बाद मिलार्ड शोक संदेश में लिखा, ''वो ख़ुद के लिए किफ़ायती और दूसरों के लिए बेहद उदार थे. वो सिर्फ़ रेसिस्ट लोगों से डरते थे. बेहद सयंमी मेरे पिता ईसा, गांधी और लिंडबर्ग के प्रशंसक थे. नज़रअंदाज़ करने वाली दुनिया में वो एक अच्छे इंसान थे.''

पिता की हत्या

इस बात को गुज़रे अभी छह महीने हुए थे. मिलार्ड पर न सिर्फ़ लॉरा और बोस्मा की हत्या का आरोप लगा बल्कि अपने पिता की हत्या के लिए भी उसे ज़िम्मेदार बताया गया.

पिता और प्रेमिका की हत्या की वजह से पहले बात करते हैं कि आख़िर टिम बोस्मा की हत्या मिलार्ड ने क्यों की? जवाब है एक ट्रक.

दरअसल 32 साल के बोस्मा ट्रक बेचना चाहते थे. इसलिए उनकी पत्नी ने इंटरनेट पर एक विज्ञापन दिया. बोस्मा के घर में दो साल की बच्ची थी और बोस्मा दंपति चाहते थे कि परिवार अब बढ़ाया जाए लेकिन ज़रूरी संसाधनों को जुटाने के लिए ट्रक का बेचा जाना ज़रूरी था.

... जो साबित हुई आख़िरी हामी

6 मई 2013 को मिलार्ड और स्मिच बोस्मा के घर आते हैं ताकि ट्रक का टेस्ट ड्राइव किया जा सके.

इस सुबह बोस्मा अपनी पत्नी से पूछते हैं, ''जो लोग गाड़ी ख़रीदने आ रहे हैं, क्या मैं उनके साथ जा जाऊं.'' ज़ाहिर है कि बोस्मा जवाब में हामी भरती हैं.

लेकिन ये हामी बोस्मा की पत्नी के लिए मनहूस साबित हुई. बोस्मा फिर कभी नहीं लौटे.

कई फोन, मैसेज के बाद बोस्मा की पत्नी पुलिस में शिकायत करती हैं. सोशल मीडिया पर बोस्मा की वापसी के लिए अभियान चलाया जाता है. एक प्रेस कॉन्फ्रेंस में उदास बोस्मा की पत्नी कहती हैं, ''वो एक साधारण और बेकार सा ट्रक था. आपको उसकी क्या ज़रूरत होगी, लेकिन हमें है. मेरी बेटी को अपने पिता की ज़रूरत है.''

चार दिन बाद पुलिस को बोस्मा की गाड़ी मिलार्ड की मां की प्रॉपर्टी पर मिलती है. ट्रक के पुर्ज़ों को खोला जा चुका था लेकिन ख़ून और गन पाउडर के निशान अब भी थे. बाद में मिलार्ड के फॉर्म में मानव अवशेष मिलते हैं.

इमेज कॉपीरइट AFP

मीडिया में छाया रहा ये हत्याकांड

इस हत्याकांड को काफ़ी मीडिया कवरेज मिली. ये कवरेज़ इतनी ज़्यादा थी कि सुरक्षा एजेंसियों को मिलार्ड की सुरक्षा को लेकर चिंता होने लगी.

हालांकि ये भले ही मिलार्ड के ख़िलाफ़ पहला ट्रायल हो लेकिन ये आख़िरी ट्रायल नहीं था. गिरफ़्तारी के कुछ वक़्त बाद ही पुलिस मिलार्ड पर जुलाई 2012 से ग़ायब हुई लॉरा बैबकोक की हत्या का आरोप लगता है.

बोस्मा के केस की सुनवाई के दौरान स्मिच और मिलार्ड की तरफ़ से अलग-अलग वक़ीलों ने केस लड़ा. जून 2016 में दोनों को फ़र्स्ट डिग्री मर्डर के लिए उम्रक़ैद की सज़ा सुनाई गई.

अक्टूबर में मिलार्ड कोर्ट से कहते हैं कि दो अन्य केसों को लड़ने के लिए मेरे पास पैसे नहीं हैं. पिता की मौत का अभियुक्त होने पर संपत्ति पर मिलार्ड का अधिकार नहीं रह जाता है. इसके अलावा बोस्मा परिवार ने भी मिलार्ड पर 11 मिलियन डॉलर का केस दर्ज़ करवाया है.

हालांकि मिलार्ड के नाम अरबों की संपत्ति थी. लेकिन गिरफ्तारी के कुछ वक़्त बाद ही वो ये संपत्ति अपनी मां के नाम कर देते हैं.

इमेज कॉपीरइट OTHER

क़ातिल ही वक़ील, वक़ील ही क़ातिल

मिलार्ड ने कोर्ट से क़ानूनी मदद मांगी. लेकिन जज ने जब इससे इनकार किया तो मिलार्ड ने अपना केस ख़ुद लड़ने का फैसला किया.

और यहां से इस ट्रायल की शुरुआत होती है. अपने ट्रायल के पहले दिन मिलार्ड लॉरा के पिता से सवाल करते हैं, ''क्या आपने अपनी बेटी को कभी मारा था. क्या वो मानसिक तौर पर स्वस्थ थी?''

लॉरा के पिता जवाब देते हैं, ''मैं उसे कभी नहीं मारता था. मैं अपने परिवार के साथ खुश था. हमारा खूबसूरत परिवार था. 53 सालों तक मैं खुद को सौभाग्यशाली मानता रहा और फिर मेरी बेटी के साथ ये हुआ. ऐसे में मैं अब बिल्कुल खुश नहीं हूं.''

लॉरा के परिवार के मुताबिक, मौत से कुछ महीने पहले वो बेहद मुश्किल भरी ज़िंदगी जी रही थी और तनाव से गुज़र रही थी.

इमेज कॉपीरइट OTHERS

मां-पिता से लड़ाई

मिलार्ड के दोस्तों ने कोर्ट को बताया कि वो अपने मां-पिता से अक्सर लड़ाइयां करती थी. वो उन बंदिशों से परेशान थी, जो उसके दोस्तों और उसकी ऐश में कमी ला रही थीं.

मिलार्ड और लॉरा के बीच 2008-09 संबंध रहा था. इस बीच क्रिस्टीना नौडगा के साथ मिलार्ड के संबंधों की शुरुआत हुई. ये दोनों रिश्ते एक वक्त में साथ चल रहे थे.

क्रिस्टीना का नाम टिम बोस्मा के केस में सबूतों को छुपाने के मामले में भी आया था और वो दोषी ठहराई गई थीं.

इन दोनों लड़कियों के बीच लड़ाई हुई. लॉरा इस दौरान क्रिस्टीना को मैसेज भेजती हैं कि वो अब भी मिलार्ड के साथ हमबिस्तर होती हैं.

जांच के दौरान एक मैसेज लॉरा के गायब होने के राज़ से पर्दा उठाता है. इस मैसेज में मिलार्ड क्रिसटीना को कहते हैं, ''पहले मैं उसे चोट पहचाऊंगा और तब मैं उसे जाने दूंगा. मैं उस लड़की को हमारी ज़िंदगी से बाहर फेंक दूंगा.''

सात मर्डर केस, जिनसे देश हिल गया था

कब और कैसे बन जाते हैं बच्चे क़ातिल?

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

बीबीसी न्यूज़ मेकर्स

चर्चा में रहे लोगों से बातचीत पर आधारित साप्ताहिक कार्यक्रम

सुनिए

मिलते-जुलते मुद्दे