यूक्रेन संकट: क़ैदियों की अदला-बदली हुई

  • 28 दिसंबर 2017
यूक्रेन के नागरिक इमेज कॉपीरइट ANATOLII STEPANOV/AFP/Getty Images
Image caption यूक्रेन के नागरिक

यूक्रेन और देश के पूर्व में मौजूद अलगाववादी विद्रोहियों ने सैकड़ों कैदियों का आदान-प्रदान किया है. साल 2014 में संघर्ष शुरू होने के बाद से इस तरह की सबसे बड़ी घटना है.

विद्रोहियों के कब्ज़े वाले इलाके में करीब 230 लोगों को भेजा गया. इसके बदले दोनियेत्स्क और लुहांस्क इलाकों में रूस समर्थक विद्रोहियों के कब्ज़े से 74 कैदियों को छोड़ा गया है.

बीते 15 महीनों में होने वाली ये इस तरह की पहली अदला-बदली थी.

साल 2015 में मिंस्क शांति समझौते पर हस्ताक्षर किए गए थे जिसमें कैदियों की रिहाई और आदान-प्रदान का महत्वपूर्ण मुद्दा था.

यूक्रेन में रूसी सेना की तैनाती: यूक्रेन

यूक्रेन: अलगाववादी भारी हथियार हटाएंगे

इमेज कॉपीरइट ALEKSEY FILIPPOV/AFP/Getty Images
Image caption रूस के समर्थक विद्रोही जिन्हें बंदी बन लिया गया था

लेकिन इस मामले पर बात कुछ आगे नहीं बढ़ी और जानकारों का था कि क़ैदियों का आदान-प्रदान व्यापक प्रगति का इशारा नहीं है. इसके बाद दोनों पक्षों ने क़ैदियों को अपने पास रखा था.

क़ैदियों की संख्या शुरुआती घोषणा के मुकाबले कम थी, विद्रोहियों के कब्ज़े वाले इलाकों से कई क़ैदियों ने दूसरी तरफ लौटने से इनकार कर दिया.

यूक्रेन में रेड क्रॉस की अंतरराष्ट्रीय समिति के प्रवक्तामिलादिन बोगेटिक ने कहा, "कुछ लोगों को पहले ही छोड़ दिया गया है और यूक्रेन के अधिकरियों ने उन पर लगाए आरोप भी वापस ले लिए हैं. ये लोग सरकार के नियंत्रण वाले इलाके में रहना पसंद करते हैं."

यूक्रेन: शांति समझौते पर ख़तरा

रूस और यूक्रेन के बीच सीधी उड़ानें बंद

इमेज कॉपीरइट ALEKSEY FILIPPOV/AFP/Getty Images
Image caption यूक्रेन के नागरिक रिहा होने के लिए अपनी बारी का इंतज़ार कर रहे हैं

समाचार एजेंसी एएफ़पी के अनुसार यूक्रेन के दो नागरिकों ने (एक महिला और एक पुरुष) विद्रोहियों के कब्ज़े वाले इलाके में रहना चुना.

क़ैदियों की अदला-बदली के लिए बीते कई महीनों से बातचीत चल रही थी. इस बातचीत में रूसी राष्ट्रपति व्लादिमीर पुतिन, यूक्रेन के राष्ट्रपति पेट्रो पोरोशेन्को के साथ रूसी रूढ़िवादी चर्च के प्रमुख ने भी हिस्सा लिया.

क़ैदियों के आने जाने के लिए दोनियेत्स्क होर्लीवका शहर के निकट मेयोरस्क नाके पर कैदियों को ले जाने वाली बसें और अन्य वाहन एकत्र हुए थे.

यूक्रेन पर सुरक्षा परिषद की आपात बैठक

यूक्रेन में अहम विद्रोही कमांडर की मौत

प्लेबैक आपके उपकरण पर नहीं हो पा रहा
यूक्रेन में फिर छिड़ी जंग

63 साल के इतिहासकार इगोर कोज़्लोवस्की को दोनियेत्स्क में विद्रोहियों ने हथियार रखने के आरोप में पकड़ा था.

इगोर ने समाचार एजेंसी एएफ़पी को बताया, "मैं दो साल के लिए कैद में था ... अभी भी दोनियेत्स्क में बहुत से कैदी हैं."

ब्रिटेन सरकार ने कैदियों के आदान-प्रदान को "स्वागत योग्य कदम" बताया है और कहा है कि "दोनों पक्षों ने प्रतिबद्धताओं को पूरा करने के लिए कदम उठाए हैं."

रूस पर नए प्रतिबंधों की मांग

यूक्रेन: कई शहरों में सेना की तैनाती बढ़ी

इमेज कॉपीरइट ANATOLII STEPANOV/AFP/Getty Images

पूर्वी यूक्रेन में संघर्ष 2014 की अप्रैल में शुरू हुआ था जब रूस ने यूक्रेन के क्रीमिया प्रायद्वीप पर कब्ज़ा कर लिया था.

संयुक्त राष्ट्र का कहना है कि इस संघर्ष के कारण दोनियेत्स्क और लुहानस्क इलाके में दस हज़ार से अधिक लोग मारे गए हैं.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

बीबीसी न्यूज़ मेकर्स

चर्चा में रहे लोगों से बातचीत पर आधारित साप्ताहिक कार्यक्रम

सुनिए

मिलते-जुलते मुद्दे