39 राष्ट्रपति देख चुके पेड़ को क्यों कटवा रही हैं मेलेनिया ट्रंप?

  • 28 दिसंबर 2017
मेग्नोलिया पेड़ इमेज कॉपीरइट AFP
Image caption मेग्नोलिया पेड़

अमरीका के व्हाइट हाउस में क़रीब 200 साल से खड़ा ऐतिहासिक पेड़ अब कुछ दिनों में काट दिया जाएगा.

जैक्शन मेग्नोलिया पेड़ को 1829 से 1837 तक अमरीका के राष्ट्रपति रहे एंड्यू जैक्शन ने अपनी पत्नी की याद में लगाया था.

ये पेड़ कई मायनों में बेहद ख़ास रहा है. इस पेड़ के पसमंज़र में कई ऐतिहासिक आयोजन हुए और 1928 से लेकर 1988 तक अमरीकी 20 डॉलर के नोट पर इस पेड़ को छापा गया था.

लेकिन जानकारों का मानना है कि ये पेड़ अब खराब हालत में है और इसकी वजह से सुरक्षा का जोख़िम है.

अमरीका की प्रथम महिला मेलेनिया ट्रंप ने इस पेड़ के बड़े हिस्से को हटाए जाने के आदेश दिए हैं.

व्हाइट हाउस की प्रवक्ता स्टीफ़न ग्रीशम मे कहा, ''श्रीमती ट्रंप ने पेड़ की रोपाइ को बचाए रखने के लिए कहा है ताकि इसी जगह पर एक नया पेड़ दोबारा लगाया जा सके. ''

स्टीफ़न ने बताया कि मिलेनिया ने ये फ़ैसला सुरक्षा को ध्यान में रखते हुए लिखा है क्योंकि इस पेड़ की वजह से व्हाइट हाउस में आने वाले विजिटर्स और प्रेस के सदस्यों की सुरक्षा को ख़तरा रहता है. ये पेड़ ठीक उस जगह पर है, जहां से अक्सर अमरीकी राष्ट्रपति का हेलिकॉप्टर उड़ान भरता है.

इमेज कॉपीरइट AFP

कहां से आया था ये पेड़?

एंड्यू जैक्शन ने इस पेड़ की कलम को अपनी पत्नी के पसंदीदा पेड़ मेग्नोलिया से काटा था. ये पेड़ इस दंपत्ति के फॉर्म हाउस पर लगा हुआ था.

ये पेड़ पहली बार चर्चा में तब आया, जब 1970 में इस पेड़ के आसपास की ज़मीन को सीमेंट से पक्का किया गया. कुछ लोगों ने कहा कि इससे पेड़ को काफ़ी नुकसान हुआ.

1980 में यहां से सीमेंट हटाकर एक बड़ा खंबा और तारों को इसके सपोर्ट में लगाया गया.

इमेज कॉपीरइट AFP
Image caption 1992 में तत्कालीन राष्ट्रपति जॉर्ज बुश

पहली नज़र ये पेड़ बिलकुल ठीक लगता है. सीएनएन के मुताबिक, यूनाइटेड स्टेट नेशनल आर्बोरेटम की रिपोर्ट ये कहती है कि पेड़ पूरी तरह ख़राब हो गया था और इसे सहारे से खड़ा रखा गया था.

मेग्नोलिया पेड़ के व्हाइट हाउस में रहने के दौरान अमरीका ने 39 राष्ट्रपतियों का शासनकाल देखा. इस बीच अमरीका गृह युद्ध और दो विश्वयुद्धों से होकर भी गुज़रा.

इमेज कॉपीरइट AFP
Image caption 1996 में राष्ट्रपति बिल क्लिंटन मेग्नोलिया पेड़ के पास भाषण देते हुए

पूर्व अमरीकी राष्ट्रपति की बेटी चेल्सी क्लिंटन ने ट्वीट कर उन लोगों को शुक्रिया कहा, जिन्होंने इतने सालों तक इस पेड़ की देखभाल की.

अमरीका के ट्रैवल बैन की सूची में क्यों नहीं है पाकिस्तान

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

बीबीसी न्यूज़ मेकर्स

चर्चा में रहे लोगों से बातचीत पर आधारित साप्ताहिक कार्यक्रम

सुनिए

मिलते-जुलते मुद्दे