उत्तर कोरिया ने दक्षिण कोरिया के साथ दोबारा खोली हॉटलाइन

  • 3 जनवरी 2018
पममुंजम गांव में हॉटलाइन इमेज कॉपीरइट EPA
Image caption पममुंजम गांव में हॉटलाइन

करीब दो साल पहले उत्तर कोरिया के शीर्ष नेता किम जोंग उन द्वारा दक्षिण कोरिया के साथ बंद कर दी गई हॉटलाइन को वापस शुरू कर दिया गया है.

दक्षिण कोरिया ने पुष्टि की है कि बुधवार को उसे स्थानीय समय अनुसार दोपहर साढ़े तीन बजे एक कॉल आई थी.

इससे पहले उत्तर कोरिया के नेता ने कहा था कि अगले महीने दक्षिण कोरिया में होने वाले विंटर ओलंपिक के लिए टीम भेजने को लेकर वह सोल से बातचीत शुरू करेंगे.

दिसंबर 2015 के बाद दोनों देशों के बीच उच्च स्तरीय बातचीत नहीं हुई थी.

बीबीसी मॉनिटरिंग के अनुसार, दक्षिण कोरिया ने उत्तर कोरिया के साथ उच्च स्तरीय बातचीत के लिए 9 जनवरी का प्रस्ताव दिया है.

'उत्तर कोरिया की जेल में मैंने शव गाड़े'

उत्तर कोरिया की हैंगओवर फ्री शराब!

इमेज कॉपीरइट Getty Images

किम के आदेश पर बोले मंत्री

दक्षिण कोरिया के अधिकारियों के अनुसार, उत्तर कोरिया ने बातचीत के विभिन्न चैनलों को बंद कर दिया था और किसी भी कॉल का जवाब देने से मना कर दिया था.

टेलीविज़न पर बयान जारी कर एक उत्तर कोरिया के अधिकारी ने दोबारा हॉटलाइन खोलने की घोषणा की थी.

फादरलैंड ऑफ़ दी पीसफ़ुल रीयूनिफ़िकेशन कमिटी के चेयरमैन री सनद्वान ने बयान में कहा कि वह 'किम जोंग उन के आदेश से बोल रहे हैं.'

दक्षिण कोरिया के अधिकारियों के अनुसार, शुरुआती कॉल संक्षिप्त थी जो टेस्ट के तौर पर की गई थी और यह अभी भी जारी है.

उत्तर कोरिया ने कहा है कि इसका उद्देश्य दोनों देशों के बीच उत्तर कोरियाई शिष्टमंडल को विंटर गेम्स के लिए भेजने जैसे व्यवहारिक मुद्दों पर बातचीत करना है.

इमेज कॉपीरइट Getty Images
Image caption दक्षिण कोरियाई राष्ट्रपति मून जे-इन

दक्षिण कोरिया की प्रतिक्रिया

दक्षिण कोरियाई राष्ट्रपति मून जे-इन के प्रेस सचिव ने कहा है कि इस संचार चैनल की बहाली 'महत्वपूर्ण' है.

उन्होंने कहा, "यह एक ऐसा वातावरण बनाता है जहां संचार हर समय संभव हो."

वहीं, मीडिया में उत्तर कोरिया से अविश्वास जताया गया है, "किम का नए साल का भाषण बहुत सोचा समझा क़दम है जो दक्षिण कोरिया के आंतरिक विभाजन में तेज़ी लाएगा."

दैनिक अख़बार जूंगअंग इबो ने कहा, "प्योंगयेंग ने शांति की दिशा में इसलिए फ़ैसला लिया है ताकि वह अपने परमाणु हथियार कार्यक्रमों के लिए और समय पा सके."

उत्तर कोरियाई जहाज़ में चोरी से भरा जा रहा था तेल!

दूसरे अख़बार हेंक्यूरे ने भी चेतावनी ज़ाहिर की है. वह लिखता है, "किम अपनी पिछली लापरवाहियों से एक इंच भी नहीं हिले हैं और परमाणु हथियारों के विकास पर उन्होंने सख़्त रुख अपनाया हुआ है."

लेकिन उसने आगे जोड़ा है कि "हैरत रूप से नए साल का भाषण शांति का दरवाज़ा खोल सकता है."

दक्षिण कोरिया के यूनिफ़िकेशन मंत्रालय के अनुसार, उत्तर और दक्षिण कोरिया के बीच बातचीत के लिए एक समय 33 सीधी लाइनें थीं.

विशेष फोन लाइन 1971 में स्थापित हुई और पममुंजम में मौजूद है. यह एक सीमा पर गांव है जो भारी सुरक्षा वाला असैन्य इलाक़ा था जहां कोरियाई देश बातचीत किया करते थे.

उत्तर कोरिया अब बूंद-बूंद पेट्रोल को तरसेगा!

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

बीबीसी न्यूज़ मेकर्स

चर्चा में रहे लोगों से बातचीत पर आधारित साप्ताहिक कार्यक्रम

सुनिए

मिलते-जुलते मुद्दे