ईरान के लिए ये आख़िरी मौका है: डोनल्ड ट्रंप

  • 13 जनवरी 2018
अमरीकी राष्ट्रपति डोनल्ड ट्रंप इमेज कॉपीरइट AFP GETTY

अमरीकी राष्ट्रपति डोनल्ड ट्रंप ने कहा है कि वे ईरान पर प्रतिबंधों में ढिलाई को आख़िरी बार बढ़ा रहे हैं ताकि यूरोप और अमरीका परमाणु समझौते की 'ख़तरनाक ख़ामियों' को दुरुस्त कर सकें.

राष्ट्रपति ट्रंप जिस छूट पर दस्तख़त करेंगे, उससे ईरान पर लगे प्रतिबंध और 120 दिन के लिए स्थगित रहेंगे.

इमेज कॉपीरइट Getty Images

व्हाइट हाउस चाहता है कि यूरोपीय संघ के दस्तख़त करने वाले सदस्य ईरान के परमाणु संवर्धन कार्यक्रम पर स्थाई प्रतिबंधों के लिए राज़ी हो जाएं.

'बेताब कोशिश'

इमेज कॉपीरइट AFP

शुक्रवार को अमरीकी राष्ट्रपति ने एक बयान में कहा, ''ये आख़िरी मौका है. ऐसे किसी समझौते की ग़ैर-मौजूदगी में अमरीका, ईरान के साथ परमाणु समझौते पर कायम रहने के लिए प्रतिबंधों में दोबारा ढील नहीं देगा.''

इस पर ईरान के विदेश मंत्री मोहम्मद जावेद ज़रीफ़ का कहना है कि ये एक 'ठोस' समझौते को कमज़ोर करने की 'बेताब कोशिश' है.

ईरान के परमाणु समझौते की 5 बड़ी बातें

इमेज कॉपीरइट AFP

वहीं जर्मनी का कहना है कि वो इस समझौते को पूरी तरह लागू करने के लिए कहता रहेगा और 'आगे बढ़ने के साझा रास्ते' के लिए ब्रिटेन तथा फ्रांस से चर्चा करेगा.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

बीबीसी न्यूज़ मेकर्स

चर्चा में रहे लोगों से बातचीत पर आधारित साप्ताहिक कार्यक्रम

सुनिए

मिलते-जुलते मुद्दे