बीते हफ्ते दुनिया भर की हलचल तस्वीरों में ...

  • 13 जनवरी 2018

इस हफ़्ते दुनिया भर से ली गयीं वो तस्वीरें जिन्होंने अपनी ओर ध्यान खींचा.

इमेज कॉपीरइट Lucy Nicholson/ Reuters
Image caption बिग लिटिल लाइज़ के लिए गोल्डन ग्लोब पुरस्कार जीतने के बाद ट्रॉफी चूमतीं लॉरा डर्न, निकोल किडमैन, जो क्रावित्ज़, रिज़ विदरस्पून और शैलेन वुडली. हॉलीवुड में यौन उत्पीड़न के बहुचर्चित मामले के सामने आने के बाद से यह पहला बड़ा समारोह है.
इमेज कॉपीरइट Xinhua/REX/Shutterstock
Image caption मंगोलिया में ऊंट के साथ तस्वीर खिंचवाती एक लड़की. इस स्थानीय त्योहार में ऊंट दौड़, सौंदर्य प्रतियोगिता का आयोजन होता है, जिसमें 200 से अधिक ऊंटों ने भाग लिया.
इमेज कॉपीरइट Adnan Abidi/ Reuters
Image caption भारतीय गणतंत्र दिवस समारोह के लिए मोटरसाइकिल पर अभ्यास करतीं बीएसएफ की महिला जवान.
इमेज कॉपीरइट The Duchess of Cambridge
Image caption लंदन में नर्सरी स्कूल जाने से पहले केंसिंग्टन पैलेस की सीढ़ियों पर बैठीं राजकुमारी शारलॉट की तस्वीर उनकी मां डचेस ऑफ़ कैंब्रिज ने ली.
इमेज कॉपीरइट ABDULMONAM EASSA/ AFP
Image caption सीरियाई राजधानी दमिस्क में हवाई हमलों के बाद जीवित बचीं दो बहनें एक दूसरे को गले लगाने के लिए लपकीं.
इमेज कॉपीरइट HOLGER HOLLEMANN/ AFP
Image caption उत्तर जर्मनी के हनोवर में समुद्री एक्वेरियम में एक स्टिंगरे को नापती महिला.
इमेज कॉपीरइट Tiksa Negeri/ Reuters
Image caption ललिबेल के मरियम चर्च में क्रिसमस समारोह में भाग लेते इथियोपियाई रूढ़िवादी तीर्थयात्री. रूढ़िवादी ईसाई 7 जनवरी को क्रिसमस मनाते हैं क्योंकि वे पुराने जूलियन कैलेंडर का उपयोग करते हैं.
इमेज कॉपीरइट Kirsty O'Connor/ PA
Image caption डेविड बॉवी की मौत की दूसरी वर्षगांठ पर, एक महिला उनके जन्मस्थल लंदन में के भित्ति चित्र को फूल अर्पित करती हुईं.
इमेज कॉपीरइट CLODAGH KILCOYNE/ Reuters
Image caption आयरलैंड की राजधानी डबलिन में कोहरे की एक सुबह अपना रास्ता तलाशता एक साइकिल सवार. यहां कोहरे के कारण कई उड़ानें रद्द की गईं.
इमेज कॉपीरइट Victoria Jones/ PA
Image caption पूर्वी लंदन के डॉकलैंड्स में आयोजित लंदन बोट शो में एक कोर्निश क्रैबर सेलिंग बोट को पॉलिश किया गया.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

बीबीसी न्यूज़ मेकर्स

चर्चा में रहे लोगों से बातचीत पर आधारित साप्ताहिक कार्यक्रम

सुनिए

मिलते-जुलते मुद्दे