उत्तर कोरिया का दक्षिण कोरिया को न्योता, पधारो म्हारे देश

  • 10 फरवरी 2018
किम यो जोंग और मून जेई इन इमेज कॉपीरइट EPA/YONHAP

उत्तर कोरिया के सुप्रीम नेता किम जोंग उन ने दक्षिण कोरिया के राष्ट्रपति मून जेई इन को अपने देश आने का न्योता दिया है. अगर दक्षिण केरियाई नेता उत्तर कोरिया जाते हैं तो बीते दशकों में ये कोरियाई नेताओं की पहली मुलाक़ात होगी.

मून ने कहा कि दोनों कोरिया मिल कर "इसे संभव बनाएंगे". उन्होंने उत्तर कोरिया से गुज़ारिश की को अमरीका के साथा बातचीत शुरू करे.

प्योंगचांग विंटर ओलंपिक खेलों के उद्घाटन समारोह में शिरकत करने पहुंची किम जोंग उन की बहन किम यो-जोंग ने दक्षिण कोरिया की राजधानी सोल में राष्ट्रपति मून जेई इन से राष्ट्रपति भवन में मुलाकात की. इस दौरान उन्होंने हाथ से लिखा एक निमंत्रण पत्र राष्ट्रपति को सौंपा.

वो किम परिवार की पहली सदस्य हैं जो सीमा पार कर दक्षिण कोरिया पहुंची हैं. उनके साथ उत्तर कोरिया के राष्ट्राध्यक्ष किम योंग-नाम भी प्रतिनिधि मंडल के साथ दक्षिण कोरिया पहुंचे हैं.

ओलंपिक से पहले किम ने क्यों दिखाई 'ताक़त'?

इमेज कॉपीरइट EPA/YONHAP

किम यो-जोंग और मून जेई इन ने साथ में किमची (कोरियई बंदगोभी का अचार) और सोजू चावल से बनी शराब का आनंद लिया और लगभग तीन घंटे बात की.

दक्षिण कोरिया के राष्ट्रपति भवन के एक प्रवक्ता ने बताया कि किम यो-जोंग ने राषट्रपति को "जितनी जल्दी संभव हो" उत्तर कोरिया की यात्रा करने का आग्रह किया है.

वॉशिंगटन पोस्ट के टोक्यो ब्यूरो चीफ के एक ट्वीट के अनुसार किम यो-जोंग ने इस नोट में उम्मीद जताई है कि "कोरियाई लोगों के दिलों में उत्तर और दक्षिण कोरिया एक साथ खड़े दिखेंगे" और आने वाले वक्त में दोनों "तरक्की और एक साथ आने की राह पर होंगे".

इससे पहले अमरीका ने उत्तर कोरिया के नज़दीकी बढ़ाने के ख़िलाफ़ चेतावनी जारी की थी.

अमरीकी राष्ट्रपति डोनल्ड ट्रंप के प्रशासन ने कहा था कि उत्तर कोरिया अपना परमाणु कार्यक्रम जारी रखे हुए हैं और इस तनाव के दौरान हो रहे विंटर ओलंपिक खेलों में दक्षिण कोरिया को सतर्कता बरतनी चाहिए और उत्तर कोरिया के कदम के झांसे में नहीं आना चाहिए.

विंटर ओलंपिक: 'किम जोंग-उन और ट्रंप' हैं साथ- साथ!

इमेज कॉपीरइट AFP/GETTY IMAGES

जानकारों का कहना है कि इस न्योते ने दक्षिण कोरियाई राष्ट्रपति को मुश्किल स्थिति में डाल दिया है क्योंकि वो पहले ही कह चुके हैं कि वो कोरियई प्रायद्वीप में जारी तनाव को सुलझाने के लिए उत्तर कोरिया से बातचीत के लिए तैयार हैं, लेकिन उनका कदम अब उनके सहयोगी अमरीका की इच्छा के विरुद्ध जा सकता है.

योनहाप समाचार एजेंसी के अनुसार ओलंपिक खेलों के उद्घाटन समारोह के दौरान किम यो-जोंग की मुलाक़ात अमरीकी उप राष्ट्रपति माइक पेन्स से हुई लेकिन दोनों से एक दूसरे से सीधे बात नहीं की.

इस दौरान दोनों नेता पास-पास बैठे थे लेकिन दोनों ने आपस में कोई बात नहीं की और दोनों एक-दूसरे से बचते नज़र आए.

अगल-बगल बैठे किम की बहन और माइक पेंस

शनिवार को अमरीकी उपराष्ट्रपति ने ट्वीट किया किया कि अमरीका "विश्व के पटल पर उत्तर कोरियाई सरकार के प्रोपोगैंडा को सफल होने नहीं देगा."

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

बीबीसी न्यूज़ मेकर्स

चर्चा में रहे लोगों से बातचीत पर आधारित साप्ताहिक कार्यक्रम

सुनिए